Bugging device seized from Delhi Anti-Corruption Bureau

नई दिल्ली : दिल्ली की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) के प्रमुख एम के मीणा की नियुक्ति को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार में मतभेद के बीच मीणा के दफ्तर में जासूसी उपकरण मिलने का मामला सामने आया है।

सूत्रों के अनुसार, मीणा को अपने दफ्तर से जासूसी उपकरण मिले हैं। मीणा को दफ्तर में एक पेन रिकॉर्डर मिला है। मीणा ने कहा कि वह इस मामले में जल्दबाजी नहीं दिखाएंगे। इसकी फोरेंसिक जांच की जाएगी। आशंका है कि मीणा की जासूसी के लिए पेन रिकॉर्डर उनके कार्यालय में रखे गए हो सकते हैं।

सूत्रों का कहना है कि एसीबी चीफ के कमरे पर कथित रिकॉर्डिंग डिवाइस मिलने पर एसीबी ऑफिस में हड़कंप मच गया। अधिकारियों को बुलाया गया और पूछताछ की गई। मैटर को दिल्ली पुलिस के उच्च-अधिकारियों के संज्ञान में भी लाया जा चुका है। सूत्रों ने कहा कि एलजी के ऑफिस को भी सूचना दे दी गई है।

एसीबी चीफ के तौर पर मीणा की नियुक्ति का केजरीवाल सरकार विरोध करती रही है। डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने उनके ट्रांसफर को साजिश करार देते हुए आरोप लगाया था कि मीणा उन्हें किसान गजेंद्र की खुदकुशी के मामले में फंसाने की कोशिश कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here