change in the weather relief from the heatनई दिल्ली – चिलचिलाती गर्मी से परेशान देश के कुछ हिस्सों में आज से राहत मिलने के आसार है। दिल्ली में आज सुबह हल्की बूंदाबांदी हुई और इसकी वजह से मौसम सुहावना हो गया। विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर-पश्चिम भारत के लोगों को मौसम में आए इस बदलाव से गर्मी से राहत मिलेगी। हालांकि, भारी गर्मी से जूझ रहे मध्य भारत और आंध्र प्रदेश व तेलंगाना के लोगों को अभी कुछ और दिनों का इंतजार करना पड़ सकता है। गौरतलब है कि आंध्र और तेलंगाना क्षेत्र में भारी गर्मी से अब तक करीब 2000 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) की वजह से पश्चिम से नम हवाएं जम्मू-कश्मीर पहुंच रही हैं, जिससे हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर पश्चिमी भारत में हल्की बूंदाबदी के साथ तेज हवाएं चल सकती हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि मौसम का यह मिजाज अगले 3-4 दिन तक बना रह सकता है, जिससे तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे जा सकता है।

मौसम पोर्टल AccuWeather के मुताबिक मध्य, दक्षिण और पूर्वी भारत के क्षेत्रों में भीषण गर्मी से राहत मिलने की कोई संभावना नहीं है। इन इलाकों पर बने मौसम के उच्च दबाव के कारण गर्मी के साथ बेहद शुष्क मौसम बना रहेगा। बहरहाल, आईएमडी के अनुसार 2 जून से इन क्षेत्रों में भी लू के थपेड़ों से कुछ हद तक राहत मिलने की संभावना है।

इस बीच मॉनसून अरब सागर के ऊपर लगातार बना हुआ है जबकि केरल में पिछले सप्ताह के अंत में हल्की बूंदाबांदी देखने को मिली। आईएमडी ने इससे पहले भविष्यवाणी की थी कि मॉनसून 30 मई तक या 4 दिन की देरी से आ सकता है।

आईएमडी के मुख्य मौसम विज्ञानी डी. शिवानंद पई ने कहा, ‘दक्षिण के कुछ हिस्सों में भारी वायुमंडलीय दबाव और लू के कारण मॉनसून आने में देरी हो रही है। हालांकि यह दबाव अब कुछ कम हुआ है, जिससे भीषण गर्मी से थोड़ी राहत मिल सकती है।’ उन्होंने कहा कि केरल के तटों में 5 जून तक मॉनसून के दस्तक देने की संभावना है।

उन्होंने बताया, ‘दक्षिणी क्षेत्रों में उच्च दबाव बना हुआ है, जो मॉनसून को रोक रहा है। दक्षिणी राज्यों में पड़ रही भीषण गर्मी का भी इसी से संबंध है। इस दबाव के आंशिक रूप से कम होने की वजह से गर्मी से आंशिक रूप से राहत मिली है, लेकिन गर्म हवाएं अभी पूरी तरह से बंद नहीं हुई हैं।’

आईएमडी ने इस साल औसत से कम बारिश होने की संभावना जताई है। इसका कारण प्रशांत महासागर में बने अल-नीनो पैटर्न को बताया गया है, जिसकी वजह से इस साल बारिश औसत से 93 पर्सेंट होने की संभावना है।

दिल्ली में आज की बूंदाबांदी के बाद मौसम विभाग ने कल और परसों भी राजधानी में आंधी के साथ हलकी बारिश के संकेत मिल रहे हैं। कम से कम इस सप्ताह के अंत तक अधिकतम तापमान 38 डिग्री और न्यूनतम 25 से 26 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। मौसम विभाग के अनुसार कल दिल्ली का अधिकतम तापमान 40.6 डिग्री और न्यूनतम 28.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आज दिल्ली का अधिकतम तापमान 39 डिग्री और न्यूनतम 25 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here