Home > India > शिवराज ने कहा था सिमी आतंकी जिन्दा या मुर्दा चाहिए- नंदकुमार सिंह

शिवराज ने कहा था सिमी आतंकी जिन्दा या मुर्दा चाहिए- नंदकुमार सिंह

अनूपपुर- प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने कहा है कि भोपाल जेल से जब सिमी आतंकवादी भागे तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस से कहा था कि मुझे आठो आतंकवादी जिन्दा या मुर्दा चाहिए। मुख्यमंत्री पूरी रात अपने बंगले को कंट्रोल रूम बना कर घटना की निगरानी कर रहे थे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस ने सभी आतंकवादियों को 8 घंटे में मार गिराया। उन्होंने कहा कि अगर आतंकवादी भाग जाते तो वे न जाने कितने निर्दोष लोगो की हत्याएं करते। बता दें कि चौहान कल अनूपपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद थे।

वहीँ प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह साफ किया है कि एनकाउंटर में मारे गये सिमी आंतकियो के पास से हथियार मिले थे। इस मामले में पुलिस और एसटीएफ के विरोधाभाषी बयानो पर गृहमंत्री ने सफाई दी कि घटनाओं के संदर्भ में कुछ कन्फ्यूजन हो सकता है। लेकिन पुलिस ने उन्हें बताया है कि मारे गये आंतकियों के पास हथियार मिले थे।

सिमी एनकाउंटर मामले को शहडोल लोकसभा उपचुनाव में चुनावी मुद्दा बनाने के सवाल पर गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा ​है कि यह देश की सुरक्षा का मामला है। यह चुनावी मुद्दा नहीं हो सकता। कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर राजनीति कर रही है। कांग्रेस पार्टी आंतकियो की प्रवक्ता हो गयी है।

शिवराज के बयान पर गृहमंत्री ने दी सफाई
गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के उस बयान पर सफाई दी है, जिसमें उन्होने कहा था कि अगर विकास चाहिये तो चुनाव में बीजेपी को जिताना होगा। मुख्यमंत्री ने कल अनूपपुर में झाबुवा चुनाव का हवाला देते हुवे, मतदाताओं से कहा था कि दूसरे दल के उम्मीदवार को मत जिताना नहीं तो विकास में बाधा आयेगी। इस गृह मंत्री ने कहा कि झाबुआ में विकास को कोई भी काम होता है ​तो सांसद भूरिया विरोध करने पहुंच जाते हैं। एैसा होने से विकास कार्यो में बाधा आती है। मुख्यमंत्री ने इसी बात को समझाते हुवे बीजेपी को जिताने की अपील की थी।
रिपोर्ट- @विजय उरमलिया




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com