Untitled_0009 041खण्डवा – चीन में दिए बयान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अब पुरे देश में निंदा होने लगी है। लोग इतने नाराज है की अब कोर्ट में परिवाद दायर कर पीएम मोदी से माफ़ी मांगे की बात कहरहे है। वाकई क्या देश के प्रधानमत्री को इस तरह का बयान देना शोभा देता है ?… आज इसी बात को लेकर आम आदमी से लेकर सोशल मीडिया में बहस छिड़ी हुई है।

खंडवा के पियूष  भंसाली ,अब्बास अली ,अनिल सक्सेना ,विजय नगर ने मिलकर पीएम मोदी के उस बयान के खिलाफ परिवाद लगाया है जिसमे मोदी ने चीन में अंतराष्ट्रीय मंच से कहा था की एक समय था लोग कहते थे की  पिछले जन्म किसी ने पाप किया होगा जो भारत में पैदा हो गए। साल भर पहले भारत को कोई पूछता नहीं था। आपको भी शर्म आती होगी … . । जिला न्यायालय ने परिवाद को अपने पास रख 16 जून तक उस पर विचार करने को कहा है। 16 जून को जिला न्यायालय फैसला करेगा की परिवाद आगे चलाया जाए या नहीं। परिवाद के पक्ष में पेपर कटिंग और वीडियो साक्ष्य के रूप में न्यायालय में पेश किए गए है।

पियूष  भंसाली ने बताया की वह सोशल मीडिया पर भी मोदी के इस बयान के खिलाफ केम्पेन चला रहे है जिसे अच्छा खासा समर्थन मिल रहा है ।

रिपोर्ट :- निशात सिद्दीकी 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here