Home > Election > यूपी का दंगल: नहीं होगा गठबंधन, अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी

यूपी का दंगल: नहीं होगा गठबंधन, अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी

File-Pic

File-Pic

लखनऊ : यूपी के दंगल में अखिलेश यादव ने एक और दाव चल दिया है। पहले अपने चाचा और पिता को पटखनी दे चुके उत्तर प्रदेश के मुखिया ने अब वे मुश्किल वक्त में अपने साथ खड़ी रही कांग्रेस को भी घुटनों के बल लाने पर अड़ गए हैं।

कांग्रेस आलाकमान अखिलेश के इस बदले हुए रुख से हैरान है। सोनिया गांधी इसे लेकर नाराज भी बताई जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक गठबंधन की संभावना अब खत्म हो गई है और कांग्रेस ने 140 सीटों अपने प्रत्याशी घोषित करने की तैयारी शुरू कर दी है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक जब तक सपा का नाम और साइकिल चुनाव चिन्ह नहीं मिला था, तब तक अखिलेश ने कांग्रेस को 142 सीटें दे रखी थीं. अखिलेश ने ये बात लिखकर कांग्रेस को दी थी लेकिन समाजवादी पार्टी और साइकिल मिलने के बाद अखिलेश ने मजबूरी बताते हुए 121 सीटें ऑफर कीं।

इसके बाद जब 121 पर कांग्रेस ने हां की, तो वो 100 पर अटक गए. उनका कहना है कि, नेताजी की 38 लोगों की सूची को एडजस्ट करना है। बताया जाता है कि कांग्रेस 110 सीटों पर भी मान गई थी, लेकिन तब अखिलेश ने कहा कि, कुछ पुराने और आज़म खान सरीखे नेताओं की सीटों की मांग आ गई है, मेरी पार्टी के कई लोग पार्टी छोड़ रहे हैं। इसलिए मैं 100 से ज़्यादा नहीं दे पा रहा।

कांग्रेस आलाकमान अखिलेश के इस बदलते रुख से नाराज और हैरान है। पार्टी का कहना है कि या तो सपा 110 सीटें देने पर राजी हो वर्ना गठबंधन नहीं होगा। माना जा रहा है कि कांग्रेस अगले कुछ घंटों में इस बाबत कोई बड़ा फैसला ले सकती है. सूत्रों के मुताबिक गठबंधन की संभावना अब खत्म हो गई है और कांग्रेस ने 140 सीटों अपने प्रत्याशी घोषित करने की तैयारी शुरू कर दी है।






Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com