MP : ईवीएम की सुरक्षा को लेकर कांग्रेसियों का हंगामा, जाने पूरा मामला

0
15

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है।

खरगोन में शुक्रवार को ईवीएम को लेकर कांग्रेस प्रत्याशी ने हंगामा किया। आरोप है कि शासकीय महाविद्यालय में बने स्ट्रांग रूम की लाइट करीब एक घंटे तक बंद रही। फिर पीछे के दरवाजे से कुछ ईवीएम मशीन ले जाए गए।

कांग्रेस ने गड़बड़ी की आशंका जताई है, वहीं प्रशासन ने बिजली गुल होने की बात कही है।

बताया गया है कि शुक्रवार को रात 8 बजे अचानक स्ट्रांग रूम के बाहर चलने वाली एलईडी स्क्रीन बंद हो गई। इस एलईडी पर स्ट्रांग रूम में रखी ईवीएम मशीनों को बाहर से देखा जा सकता है।

स्क्रीन के बंद होते ही वहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ऐतराज जताया। कांग्रेस प्रत्याशी रवि जोशी की अगुवाई में हजारों लोगों की भीड स्ट्रांग रूम के बहार जमा हो गई। ईवीएम मशीन बदलने या गड़बडी करने की आशंका में लोगों ने जमकर हंगामा किया।

कांग्रेसियों की मांग है कि इन मशीनों का फिजिकल वेरिफिकेशन कराया जाए। इन मशीनों को मतगणना समाप्त होने तक अलग रखा जाए।

साथ ही इस मामले में जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल बर्खास्त करते हुए अपराधिक मामला दर्ज किया जाए।

पूरे मामले को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘चुनावी कार्य में लगे सभी जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकरियों से अपील है कि वे लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर मतगणना तक निष्पक्षता का आचरण करें। हमें कुछ अधिकरियों के खिलाफ शिकायत मिली है।’

कमलनाथ ने एक और ट्वीट किया, ‘सभी कांग्रेसजन, कांग्रेस प्रत्याशियों से अपील है कि 11 दिसंबर को मतगणना तक स्ट्रांग रूम और ईवीएम पर निगरानी रखें, विशेष सावधानी रखें। कांग्रेस की सरकार बननी तय है।’

दूसरी तरफ, इस पूरे मामले में प्रशासन का कहना है कि यहां पहुंची ईवीएम मशीन रिजर्व कैटिगरी की थीं, जो स्टाफ की कमी के कारण सागर में बनाए गए स्ट्रांग रूम के वेयरहाउस में निर्धारित समय पर नहीं पहुंचाई जा सकीं।

शुक्रवार को इन्हें वहीं शिफ्ट कराया जा रहा था। प्रशासन ने घटना की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मशीनों को कांग्रेस के प्रतिनिधियों के सामने जांच के बाद कलेक्टर कार्यालय में बने ट्रेजरी के स्ट्रांग रूम में रखने के निर्देश दिए गए हैं।

बता दें कि मध्य प्रदेश में मतदान 28 नवंबर को हुआ था, उसके बाद वापस आई ईवीएम मशीनों को गुरुवार को पुरानी जेल में बनाए गए स्ट्रांग रूम में रखा गया था।

यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाने के साथ पल-पल की स्थिति दिखाने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। कैमरों को बाहर लगी एलईडी से जोड़ा गया है। चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे।