CAB के पारित होने का मतलब गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की जीत – शशि थरूर

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन बिल (CAB) पर कल लोकसभा में बहस होने की संभावना है। मोदी सरकार इसी दिन निचले सदन से बिल को पारित करवाना चाहती है। जहां बीजेपी के पास बहुमत है।

कांग्रेस, टीएमसी, समाजवादी पार्टी, सीपीएम, एनसीपी और डीएमके समेत अन्य दल बिल का विरोध कर रही है।

इसी को लेकर आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री शशि थरूर ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के पारित होने का मतलब महात्मा गांधी के विचारों पर मोहम्मद अली जिन्ना के विचारों की जीत होगा।

उन्होंने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा, ”धर्म के आधार पर नागरिकता देने से भारत का स्तर गिरकर ‘पाकिस्तान का हिन्दुत्व संस्करण’ हो जाएगा।”

तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा, यदि कैब पारित होता है तो मुझे विश्वास है कि सुप्रीम कोर्ट संविधान के मूल सिद्धांतों के ‘खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन’ को अनुमति नहीं देगा।

नागरिकता संशोधन बिल (CAB) में पाकिस्तान , बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान से भारत आए अवैध अप्रवासियों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान है बशर्ते कि वो मुसलमान नहीं हों।

बिल का फायदा इन देशों से भारत आए हिन्दू , सिख , बौद्ध , जैन , ईसाई और पारसी समुदाय के लोगों को मिलेगा।

इस बिल के खिलाफ पूर्वोत्तर में विरोध होता रहा है। साथ ही राजनीतिक दलों के साथ कई संगठन भी इस बिल में मौजूद प्रावधानों से सहमत नहीं हैं।