कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष तिवारी ने अयोध्या मामले में शनिवार को भाजपा को जमकर आडे़ हाथ लिया। उन्होंने कहा कि 30 साल से भाजपा चुनाव के दौरान ही राम मंदिर के मामले को उठाती है।

अभी पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। चुनाव बाद ‘राम’ और ‘मंदिर’ दोनों ओझल हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि राम मंदिर मामले में कांग्रेस का स्पष्ट पक्ष है कि सुप्रीम कोर्ट को जो फैसला आए, वह सर्वमान्य हो।

उन्होंने राफेल सौदे से लेकर विकास संबंधी मामलों को लेकर मोदी सरकार पर जमकर हमले किए। उन्होंने कहा कि साढे़ चार साल में मोदी सरकार ने विकास का सत्यानाश कर दिया है।

एक गैरसियासी कार्यक्रम के सिलसिले में दून आए तिवारी ने मीडिया से बातचीत में ज्वलंत मुद्दों पर पार्टी का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को भाजपा सिर्फ चुनावी लाभ के लिए इस्तेमाल करती है।

उन्होंने कहा कि तीन गुनी कीमत पर राफेल जहाज केंद्र सरकार ने खरीदे हैं। जो जहाज 526 करोड़ में खरीदे जाने चाहिए थे, उन्हें 1690 करोड़ में क्यों खरीदा गया, यह सवाल अपनी जगह पर है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मामले में संयुक्त संसदीय कमेटी बनाए जाने की मांग लगातार कर रही है।

उन्होंने कहा कि चाहे जीएसटी हो या नोटबंदी, मोदी सरकार के फैसलों ने कांग्रेस के कार्यकाल में हुए विकास का सत्यानाश करने का ही काम किया है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और अन्य नेताओं ने राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष तिवारी का दून पहुंचने पर गर्मजोशी से स्वागत किया। एक होटल में कांग्रेस का दल तिवारी से मिलने पहुंचा।

इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष के अलावा प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, पूर्व विधायक राजकुमार, दून महानगर अध्यक्ष लाल चंद्र शर्मा, पछवाछून अध्यक्ष संजय किशोर, राजेंद्र सिंह शाह, अजय सिंह, गिरीश पुनेड़ा, भरत शर्मा, नवीन पयाल आदि उपस्थित थे।