कांग्रेस सरकार द्वारा की कर्जमाफी पहला कदम, अभी बहुत कुछ किया जाना है – राहुल गांधी

0
15

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल पहुंचे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान आभार सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने इस दौरान केंद्र की बीजेपी सरकार पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

इस दौरान राहुल गांधी ने ऐलान किया कि अगर लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनी तो कांग्रेस पहला काम गारंटी आमदनी का करेगी। हर व्यक्ति के लिए गारंटी इनकम सुनिश्चित किया जाएगा।

राहुल गांधी ने कहा कि संसद में बजट के दौरान बीजेपी सरकार ने किसानों को मात्र 17 रुपए देकर धड़ाधड़ तालियां बजवाईं।

राहुल ने तंज कसा कि पहले तो समझ नहीं आया कि क्या हुआ फिर बाद में पता चला कि किसानों को कितने कम पासे दिए गए।

राहुल गांधी ने कहा कि जनता ही मालिक है। किसानों का कर्ज माफी उनका हक़ है। इसी किसी नेता ने नहीं किया बल्कि खुद किसानों ने किया है।

कर्जमाफी पर बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा की गई कर्जमाफी पहला कदम है। अभी बहुत कुछ किया जाना है।

मध्य प्रदेश को प्रोसेसिंग हब बनाएंगे। यहां के युवाओं को यहीं रोजगार मिलेगा। उसे कहीं बाहर जाने की जरूरत नहीं है।

राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश की जनता को विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि आप प्रदेश के किसी भी जिले किसी भी गांव में कहीं भी कभी भी बुलाएंगे, हाजिर रहूंगा।

राहुल गांधी से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी सभा को संबोधित किया। उन्होंने 45 दिन का हिसाब देते हुए कहा कि जब मैंने पदभार संभाला तो यहां बीजेपी तिजोरी खाली कर चुकी थी।

बीजेपी ने प्रदेश की व्यवस्था चौपट करके रखी थी। हमने लक्ष्य बनाया कि सबसे पहले हम अपने कृषि क्षेत्र को जीवित करें।

कमलनाथ ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश के नौजवानों ने आपका चेहरा पहचान लिया है। आप संभल जाइए। अब नारों से काम नहीं चलेगा। विज्ञापनों से काम नहीं चलेगा। अब नौजवान ही इस देश का निर्माण करेगा।

वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्र की बीजेपी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज देश सिर्फ राहुल गांधी की तरफ उम्मीद की नजरों से देख रहा है।

बुंदेलखंड से बीजेपी के दिग्गज नेता रहे राम कृष्ण कुसमरिया ने राहुल गांधी के सामने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। उन्होंने कहा कि बीजेपी में उनकी अनदेखी की गई है। वहां बुजुर्ग नेताओं का सम्मान नहीं है।