Home > Crime > बांग्लादेश से जुड़े नकली नोट के तार

बांग्लादेश से जुड़े नकली नोट के तार

connected to Bangladesh fake notesमंदसौर – मंदसौर पुलिस को नकली नोट मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी है पूर्व में गिरफ्तार मुबारिक पिता फखरु पटेल अजमेरी निवासी बादाखेडी व तस्करी के लिए नकली नोट देने वाला फरार आरोपी उमर पिता अय्यूब अजमेरी निवासी बाजखेड़ी को गिरफ्तार किया व मुबारिक से45000 हजार के 500 सो के नकली नोट , उमर से 4000 हजार के 500 के नकली नॉट जप्त किये । गिरफ्तार किये गए दोनों आरोपी से जब पुलिस ने पूछताछ कि तो उमर ने बताया की उसे नकली नोट सिद्दीकी पिता मोईन अजमेरी निवासी बागलिया जिला प्रतापगढ़ राजस्थान वाले ने अजमेर में दिए थे।

एसपी मनोज शर्मा ने इस गैंग का पर्दाफाश करने के लिए एक टीम का गठन किया जिसमे सीएसपी डॉ.चंचला नागर के निर्देशन में टीम का गठन किया गया जिसमे मन्दसौर टीआई एमपी सिंह परिहार सउनि.संजय प्रताप सिंह,आरक्षक मोहनलाल,प्रदीप सिंह तोमर,धीरेन्द्र सिंह व् आरक्षक नंदकिशोर को शामिल किया गया व् आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए टीम रवाना की गयी व् सिद्दीकी को अजमेर से 3 तारीख को गिरफ्तार किया व् सिद्दीकी से 2000 रुपये के 500 सो के 4 नकली नोट जप्त किये जो पूर्व में जप्त नोट की सीरीज के ही थे।

सिद्दीकी से जब पूछताछ की गयी तो उसने बताया की इसमे अन्तराज्यीय गिरोह का व्यक्ति इस नेटवर्क को चला रहा हे ।सिद्दीकी लगभग 2 महीने पहले अजमेर घुमने गया था जहा उसकी मुलाकात पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद (बंगलादेश बोर्डर) जिले के दो व्यक्ति सुभान शेख व् उसका साथी मिला था दोनों ने नकली नोट का धंधा करने की बात कही ।उस समय सुभान और उसके साथी ने 20000 हजार के500 सो के नकली नोट चलाने हे तू सिद्दीकी को दिए जो सिद्दीकी के बड़ी आसानी से बाजार में चला दिए उसके बाद नकली नोट का कारोबार बढ़ाता गया और वही नकली नोट सिद्दीकी ने तस्करी के लिए उमर को दिए थे समय रहते अगर पुलिस इनको नहीं पकड़ती तो ये नकली नोटों का कारोबार दिनोदिन फेलता जाता।

नकली नोट प्रकरण में सिद्दीकी की निशानदेही पर अजमेर से मुर्शिदाबाद निवासी सुभान शेख को गिरफ्तार किया गया व् उसके कब्जे से भी 45000 हजार के 500 के 90 नकली नोट जप्त किये ।

इस पुरे मामले में 4 गिरफ़्तारी अभी तक हो चुकी हे अभी और ना जाने कितनी परते खुलना बाकि हे लेकिन इस पुरे मामले में एक बात तो साफ हो रही हे की अगर नकली नोट के तार बंगलादेश की बोर्डर से जुड़े हे तो हो सकता हे की यह गिरोह अन्तर्राजीय न होकर अन्तर्राष्ट्रीय हो इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता हे क्योकि अभी इस पुरे मामले में और भी गिरफ्तारियां होना बाकि हे।

रिपोर्ट :- प्रमोद जैन 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com