क्या हैं लॉकडाउन जानें हर सवाल के जवाब, क्या होगा बंद, क्या रहेगा खुला

बतादें भारत सरकार ने 75 जिलों में लॉकडाउन के आदेश दिए हैं जिसमें भोपाल भी शामिल हैं ।31 मार्च तक इन जिलों में ट्रेन,बस और मेट्रो सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। देश में कोरोना से मौत का आंकड़ा 7 तक पहुंच गया है। महाराष्ट्र में जहां 63 साल के एक मरीज ने बीती रात दम तोड़ दिया तो वहीं बिहार में पटना एम्स में एक 38 साल के व्यक्ति की बीती रात मौत हो गई। वहीं भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है।

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की वजह से कई राज्यों में लॉकडाउन की नौबत आ गई है। राजस्थान, उत्तराखंड और पंजाब को 31 मार्च तक लॉकडाउन हो गए हैं। कई शहरों समेत देश के 75 जिले इस समय लॉकडाउन हो चुके हैं। अब तक आपने देश बंद ,प्रदेश बंद या हड़ताल के बारे में सुना है, कर्फ्यू के बारे में सुना है। मगर मन में यह सवाल उठता है कि आखिर यह लॉकडाउन क्या है? हमारे जीवन पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा? क्या खुला रहेगा और क्या बंद रहेगा? ऐसे कई सवालों के जवाब यहां जानेंगे लेकिन उस से पहले कोरोना जैसी महामारी से शिकार हुए देश भर के लोगों के बारे में बतादें भारत सरकार ने 75 जिलों में लॉकडाउन के आदेश दिए हैं जिसमें भोपाल भी शामिल हैं ।31 मार्च तक इन जिलों में ट्रेन,बस और मेट्रो सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। देश में कोरोना से मौत का आंकड़ा 7 तक पहुंच गया है। महाराष्ट्र में जहां 63 साल के एक मरीज ने बीती रात दम तोड़ दिया तो वहीं बिहार में पटना एम्स में एक 38 साल के व्यक्ति की बीती रात मौत हो गई। वहीं भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है।

आखिर क्या है लॉकडाउन

  • लॉकडाउन शब्द का इस्तेमाल पश्चिमी देश कई बार आपात स्थिति में ऐसा कर चुके हैं।
  • भारत में लोगों को घरों में रखने के लिए कर्फ्यू या धारा 144 जैसे कानून का सहारा लेते रहे हैं।
  • मगर लॉकडाउन का इस्तेमाल भारत में पहली बार हो रहा है। इसका सीधा सा मतलब है कि जरूरी सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा।
  • इस दौरान सिर्फ जरूरी या आपात स्थिति होने पर ही आपको घर से निकलने की अनुमति रहेगी।
  • इस दौरान सभी बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान, दुकानें, पब्लिक ट्रांसपोर्ट सब बंद रहेंगे। हालांकि, जरूरी सेवाएं बहाल रहेंगी।

क्या पहले भी हुआ है लॉकडाउन

  • अमेरिका ने 9/11 आतंकी हमले के बाद तीन दिन के लिए पहली बार लॉकडाउन किया था।
  • इसके बाद 2013 में बॉस्टन और 2015 में पेरिस हमले के बाद ब्रुसेल्स लॉकडाउन किया गया था।

क्या-क्या सेवाएं बंद रहेंगी

  • किसी भी सार्वजनिक परिवहन सेवा को अनुमति नहीं होगी। इसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, रिक्शा, ई-रिक्शा सब बंद रहेंगे।
  • दिल्ली में डीटीसी की 25 प्रतिशत बसें चलेंगी।
  • सभी दुकानें, बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान, फैक्ट्री, वर्कशॉप, ऑफिस, गोदाम, साप्ताहिक बाजार ये सब बंद रहेंगे।
  • इंटरस्टेट बसें, ट्रेन और मेट्रो सेवाएं निलंबित रहेंगी। सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द रहेंगी।
  • किसी तरह का निर्माण कार्य फिलहाल बंद रहेगा। सभी तरह के धार्मिक स्थान बंद रहेंगे।

क्या-क्या खुलेगा रहेगा

  • दूध, सब्जी और दवा की दुकानें लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे।
  • अस्पताल और क्लीनिक भी इस दौरान खुले रहेंगे।
  • इसके अलावा राशन की दुकानें भी खुली रहेंगी।
  • किसी बेहद जरूरी काम के लिए भी प्रशासन की ओर से छूट मिल सकती है।
  • बैंकों के कैश से जुड़ी सुविधाएं जारी रहेंगी। टेलिकॉम, इंटरनेट और डाक सेवा जारी रहेंगी।

किन लोगों को छूट मिलेगी

  • पुलिस का काम जारी रहेगा। साथ ही कानून-व्यवस्था को लागू कराने वाले विभाग भी काम करेंगे।
  • स्वास्थ्यकर्मियों और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों का काम भी जारी रहेगा।
  • जेल विभाग और बिजली व पानी के दफ्तरों में भी काम जारी रहेगा।
  • नगर निगम के साफ सफाई या कूड़ा उठाने जैसे काम भी चलते रहेंगे। इसके अलावा जेल विभाग के काम भी चलते रहेंगे।
  • मीडियाकर्मियों को भी इस दौरान आने जाने की छूट होगी।