rape

सागर – मध्य प्रदेश के श्यामपुरा चर्च के फादर पर एक नन ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। मामला दो साल पुराना बताया गया है। लेकिन फादर का ट्रांसफर हो जाने से पहले नन से साहस दिखाकर इस मामले का खुलासा किया है। गुुुस्र्वार की शाम नन से महिला थाने में बयान दर्ज कराए।

जानकारी के अनुसार नन श्यामपुरा चर्च में 2010 से पदस्थ थी। इस दौरान चर्च के फादर फ्रि जो चिरमिल ने नन को लुभावने सपने दिखाकर उसके साथ लगातार दो साल तक दुष्कर्म किया और उसके अश्लील फोटो भी ले लिए। महिला थाने में नन ने दिए बयान के मुताबिक फादर की ज्यादती से परेशान होकर मैंने वर्ष 2012 में चर्च से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद शहर की एक स्कूल में नौकरी करने लगी थी।

फादर को श्यामपुरा चर्च से हाल ही मैं तबादला हो गया है। इसकी जानकारी नन को 11 जनवरी को मिली है। नन के मुताबिक 30 जनवरी को वह सागर से जाने वाला है। वह अन्य महिलाओं के साथ इस तरह की हरकत न कर सके इसलिए मैंने इसका खुलासा किया है। नन के साथ उसके भाई व अन्य संगठनों के पदाधिकारी भी थाने आए थे।

दुष्कर्म की शिकार नन ने पहले कैंट थाने जाकर शिकायत दर्ज कराने का प्रयास किया था। लेकिन थाने के कर्मचारी शिकायत लेने में कोताही बरत रहे थे। नन ने बताया कि थाने के टीआई से लेकर मुंशी तक ने मेरी परेशानी को नहीं समझा।

गुुस्र्वार को वह एसपी आफिस आई वहां एसपी सचिन अतुलकर से भेंट कर अपनी परेशानी बताई। एसपी ने उसे महिला थाने बयान दर्ज कराने भेजा था। रात करीब 8 बजे महिला कांस्टेबल ने उसके लिखित बयान लिए। ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल का कहना था कि थाना प्रभारी उपमा सिंह विभागीय काम से कटनी गई है। उनके आने पर कार्रवाई की जाएगी। 

महिला थाने में मौजूद नन से जब मीडिया ने सवाल कि या कि दो साल तक इस मामले की शिकायत क्यों नहीं की। उसका जबाव था कि फादर ने मेरे अश्लील फोटो ले लिए थे। उसने धमकी दी थी कि यदि किसी से इस मामले के बारे में बताया तो फोटो सार्वजनिक कर जान से मार दूंगा। नन का कहना था कि सागर से जाने के बाद वह किसी अन्य महिला के साथ दुष्कर्म जैसी घटना न करें। उसे सबक सिखाने के लिए पुलिस में शिकायत की है। -एजेंसी/ब्यूरो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here