Home > Crime > ब्लैकमेल करने वाला सरगना पुलिस रिमांड पर

ब्लैकमेल करने वाला सरगना पुलिस रिमांड पर

blackmail

कैथल- अधेड़ आयु के प्रतिष्ठत लोगों को लड़की की मार्फत योजना तहत फांसकर ब्लैकमेल करने वाले रैकेट सरगना से हजारों एंठने के मामले में पुंडरी पुलिस ने रिमांड दौरान 8 हजार रुपए नगदी बरामद कर ली है। इस मामले में 3 अन्य महिलाओं से 2 हजार, 12सौ व 8सौ रुपए नगदी पहले ही बरामद की जा चुकी है।

सरगना से इससे पुर्व सिविल लाईन पुलिस ने एक अन्य मामले में 93 सौ रुपए नगदी बरामद की जा चुकी है। आरोपी 7 जुलाई को अदालत में पेश कर दिया गया, जहां से उसे 13 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस पीआरओ ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला के एक कस्बा में क्लीनिक चला रहे एक डाक्टर के पास 3 मई 2013 को एक महिला व एक लड़की आई। लडकी ने जब ज्यादा तकलीफ होने की कहते हुए डाक्टर से अकेले मिलने की ईच्छा जाहिर की।

मरीजों के बाहर भेजते ही जब लडकी अशिष्ट हरकत करने लगी तो डाक्टर ने तुरंत अपने स्टाफ को बुलाया तो वे दोनों धमकी देते हुए फरार हो गई। घटना के 5 मिंट बाद ही वकील जयप्रकाश ढूल का फोन आया कि बलात्कार का केस दर्ज होगा अन्यथा एक लाख रुपए का प्रबंध कर लो स्वीटी से समझौता करवा दूगां।

बदनामी के डर से उसने 50 हजार रुपए दे दिए तो सीमा उर्फ स्वीटी से कथित तौर पर समझौता करवा दिया गया। पीआरओ ने बताया मामले की जांच सबइंस्पेक्टर सुल्तान ङ्क्षसह ने करते हुए आरोपी स्वीटी उर्फ नंदीनी वासी पानीपत व महिला राजपती वासी पानीपत को गिरफ्तार कर लिया है। महिलाओ ने पुछताछ दौरान कबूला कि वे सेरधा वासी महिला के संपर्क में थी। अरोपी महिलाओ ने कबुला कि नंदीनी को 5 हजार रुपए व राजपत को 3 हजार रुपए दिये गये थे।

दोनों के नंदीनी के कब्जा से क्रमश: 1200 व राजपती के कब्जा से 800 रुपए नगदी तथा मंजीत कौर के कब्जा से 2 हजार रुपए नगदी पहले ही बरामद की जा चुकी है। 6 जुलाई को एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिए आरोपी जयप्रकाश ढुल के कब्जा से सबइंस्पेक्टर सुलतान ङ्क्षसह ने 8 हजार रुपए नगदी बरामद कर ली प्रवक्ता ने बताया इससे पुर्व थाना सिविल लाईन एसएचओ इंस्पेक्टर अशोक कुमार ने पुलिस रिमांड दौरान आरोपी जयप्रकाश ढुल के कब्जा से 9300 रुपए नगदी बरामद कर ली है।

बता दे कि बेरोजगार युवक युवतियों को सक्षम बनाने हेतू कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा दिए जा रहे प्रशिक्षण तहत 2012 में कैथल से डायरी फाॄमग का प्रशिक्षण लिया था। इसके बाद महिला व उसके पति का कार्यालय में आना जाना शुरु हो गया। 8 अप्रैल की शाम जब वहां का प्रमुख बाथरुम से स्नान करके निकला तो होस्टल में वही सौंगरी वासी विवाहिता बैठी मिली, तो उसने गैर समय अकेले आने का कारण पुछा। महिेला ने कहा कि उसका पति भी 2 ङ्क्षमट में आने वाला है।

तभी उसके पति अंदर आकर गाली-गलौच करने लगा तथा छेडछाड का आरोप लगया तो बाहर इसी गिरोह के अन्य व्यक्ति इखट्टे हो गये, तथा जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। अगले दिन एडवोकेट जे पी ढुल का फोन आया कि समझौता करना है तो उसके पास आ जाओ तथा उसे ब्लैकमेल करते हुए लाखों रुपए हडप लिए थे।

रिपोर्ट :- राजकुमार अग्रवाल

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .