फतेहपुर: पुलिस अधीक्षक राहुल राज के दिशा निर्देशन पर चलाये जा रहे वांछित वारण्टियों की धर पकड़ अभियान के तहत खखरेरू पुलिस ने दस वर्षों से फरार शातिर वारण्टी 25 हजार का इनामियां व डी-5 गैंग का सक्रिय सदस्य को हल्की मुठभेड़ के बाद अवैध असलहा व कारतूसों के साथ गिरफ्तार करने मे सफलता पाई है।

जानकारी के अनुसार थानाध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह अपने सहयोगी उपनिरीक्षक अवधेश कुमार व हमराही सिपाहियां के साथ क्षेत्र मे कानून व्यवस्था चुस्त दुरूस्त रखने के उद्देश्य से गश्त कर रहे थे तभी उनके खास मुखबिर ने सूचना दिया कि पिछले दस सालों से पुलिस की आंखों की किरकिरी बने 25 हजार का इनामियां बदमाश नुसरत अली पुत्र अजहर अली उर्फ मुस्सन निवासी कोट थाना खखरेरू जो गांव के समीप रोड़ किनारे खड़ा है और किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के इरादे से अपने साथियों का इंतजार कर रहा है।

मुखबिर की सूचना पाते ही थानाध्यक्ष हरकत मे आ गये और मुखबिर के बताये स्थान की ओर रवाना हो गये। जैसे ही पुलिस पार्टी मुखबिर के बताये स्थान के समीप पहुंची तभी बदमाश ने पुलिस पार्टी पर फायर झोंकना शुरू कर दिया।

किसी तरह से बचते बचाते पुलिस ने घेराबंदी कर जवाबी फायरिंग करते हुए बदमाश को धर दबोचा जिसके कब्जे से पुलिस ने एक 315 बोर का तमंचा व दो जिंदा कारतूस बरामद करते हुए उसे जेल भेज दिया।

@सरवरे आलम