केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता चार फीसदी बढ़ा 

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कैबिनेट बैठक में लिए फैसलों की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1 जनवरी, 2020 से केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की वृद्धि को मंजूरी दी है। यह मूल वेतन/पेंशन का 17 फीसदी अधिक है।नई दिल्लीः मोदी कैबिनेट ने केंद्रीय कर्मचारियों को खुशखबरी दी है। शुक्रवार को हुई बैठक में कैबिनेट ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कैबिनेट बैठक में लिए फैसलों की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1 जनवरी, 2020 से केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की वृद्धि को मंजूरी दी है। यह मूल वेतन/पेंशन का 17 फीसदी अधिक है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यस बैंक के पुनर्गठन से जुड़ी योजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एसबीआई ने यस बैंक 49 फीसदी तक निवेश किया है। इसके साथ ही अन्य निवेशकों को भी आमंत्रित किया जा रहा है। एसबीआई के करीब 26 फीसदी निवेश की लॉक-इन अवधि तीन साल होगी। जबकि दूसरे निवेशकों के 75 फीसदी निवेश राशि की लॉक-इन अवधि तीन वर्ष होगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि पूंजीगत आवश्यकताओं को तत्काल और बाद में बढ़ाने के लिए अधिकृत पूंजी को 1100 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 6200 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि यस बैंक के पुनर्गठन की योजना को अधिसूचित करने के 3 दिनों के भीतर मौजूदा पाबंदियां हटा दी जाएगी। एक नया बोर्ड बनेगा जिसमें एसबीआई (SBI) के कम से कम 2 निदेशक होंगे, जो अधिसूचना जारी होने के 7 दिनों के भीतर कार्यभार संभाल लेंगे।