‘आतंकवादी’ वाले बयान पर केजरीवाल का जवाब, कह दी यह बात

मैं ये दिल्ली के लोगों पर छोड़ता हूं। अगर वे मुझे आतंकवादी मानते हैं तो 8 फरवरी को कमल का बटन दबाएं और अगर उन्हें लगता है कि मैंने दिल्ली के लिए, देश के लिए, लोगों के लिए काम किया है तो झाड़ू का बटन दबाएं।

नई दिल्‍ली : बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने दिल्‍ली विधानसभा चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आतंकवादी कहा था। इस बयान पर अब केजरीवाल ने जवाब दिया है। न्‍यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में केजरीवाल ने कहा है कि मुझे बहुत तकलीफ हुई क्योंकि मैंने अपने बच्चों और परिवार के लिए कभी कुछ न कर के खुद को देश को समर्पित किया। आईआईटी के मेरे 80 प्रतिशत बैचमेट विदेश जा चुके हैं और मैंने इनकम टैक्स कमीश्नर की नौकरी छोड़ दी है। उन्होंने आगे कहा कि मैं ये दिल्ली के लोगों पर छोड़ता हूं। अगर वे मुझे आतंकवादी मानते हैं तो 8 फरवरी को कमल का बटन दबाएं और अगर उन्हें लगता है कि मैंने दिल्ली के लिए, देश के लिए, लोगों के लिए काम किया है तो झाड़ू का बटन दबाएं।

शाहीन बाग में गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर की आप नेताओं के साथ वायरल हो रही फोटो को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली पुलिस का इस्तेमाल कर रही है। अगर कपिल का आम आदमी पार्टी के साथ कोई संबंध है तो उसे कड़ी सजा मिलनी चाहिए। यह सब चुनाव से ठीक पहले भाजपा का पॉलिटिकल स्टंट है। केजरीवाल ने कहा कि गोली चलवाना हमारे बस की बात ही नहीं है। वहीं भारतीय जनता पार्टी द्वारा एंटी-हिंदू कहे जाने पर केजरीवाल ने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि मैं कहां से एंटी-हिंदू हूं? मैं हनुमान भक्त हूं। मुझसे पूछा गया कि क्या मुझे हनुमान चालीसा आती है, इसपर मैंने हां कहा और सुना दिया। भाजपा को इसमें भी समस्या है।

आपको बता दें कि पश्चिमी दिल्ली के मादीपुर विधानसभा क्षेत्र में एक सभा के दौरान पश्चिमी दिल्ली के भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल को आतंकवादी बताया था। प्रवेश वर्मा ने कहा था कि अगर केजरीवाल दोबारा आ गया तो मादीपुर को सड़कों से निकलना मुश्किल हो जाएगा। शाहीन बाग जैसे लोग सारी सड़कों को घेर लेंगे। और आपका निकलना मुश्किल हो जाएगा। बच्चों, बहु-बेटियों को आप निकलने नही दोगे। क्योंकि ये इस देश में हो चुका है। कश्मीर में हिंदू रिफ्यूजियो और कश्मीरी पंडितो के साथ हो चुका है। केजरीवाल जैसे नटवरलाल और आतंकवादी इस देश में छुपे बैठे है। हमें तो सोचना में मजबूर होता है कि हम कश्मीर में पाकिस्तान के आतकवादियों से लड़े या फिर केजरीवाल जैसे आतंकियों से लड़े’।