भाजपा नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ दिल्ली में हिंसा भड़काने के मामले में शिकायत दर्ज

जाफराबाद थाने में एक दर्ज शिकायत में आराेप लगाया गया है कि कपिल ने सुनिश्चित ढंग से सांप्रदायिक भाषण देकर सांप्रदायिक उन्माद फैलाने और दंगा भड़काने की काेशिश की है। कपिल के खिलाफ दर्ज शिकायत में कहा गया है कि कपिल के भड़काऊ भाषणों के बाद अराजकता फैली और आगजनी शुरू हो गई।नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा के खिलाफ उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा भड़काने के आरोप में शिकायत दर्ज कराई गई है। कपिल के खिलाफ दो शिकायतें दर्ज हुई हैं। एक शिकायत आम आदमी पार्टी की कॉर्पोरेटर रेशमा नदीम और दूसरी वकील हसीब उल हसन ने दर्ज कराई है। दोनों शिकायतों में कहा गया है कि कपिल ने सड़क पर आकर लोगों को दंगे के लिए भड़काया और पुलिस को भी धमकी दी।

जाफराबाद थाने में एक दर्ज शिकायत में आराेप लगाया गया है कि कपिल ने सुनिश्चित ढंग से सांप्रदायिक भाषण देकर सांप्रदायिक उन्माद फैलाने और दंगा भड़काने की काेशिश की है। कपिल के खिलाफ दर्ज शिकायत में कहा गया है कि कपिल के भड़काऊ भाषणों के बाद अराजकता फैली और आगजनी शुरू हो गई। हालांकि कपिल के खिलाफ कोई कार्रवाई अभी पुलिस ने नहीं की है।

बता दें कि रविवार को कपिल मिश्रा ने कथित तौर पर लोगों के बीच जाकर कहा था कि अगर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने नहीं हटाया तो वो खुद इनको हटाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति के जाने के बाद वो किसी की नहीं सुनेंगे, दिल्ली पुलिस की भी नहीं। बता दें कि बीते दो दिन से उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसक घटनाएं हो रही हैं। बाबरपुर, मौजपुर, करावलनगर, चांदबाग, जाफरबाद, गोकुलपुरी में हिंसा हुई है। हिंसा में अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा में जान गंवाने वाले सात लोगों में दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं। कई इलाकों में हालात लगातार तनावपूर्ण बने हुए हैं।

बिगड़ते हालात को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दूसरी उच्च स्तर की बैठक बुलाई है। बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक और दूसरे अधिकारी शामिल हैं। वहीं केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, मनोज तिवारी और दूसरे नेताओं ने ट्वीट कर लोगों से शान्ति बनाए रखने की अपील की है।