दिल्ली में भाजपा 70 में से 45 सीटें जीतकर इस गणित से बना रही है सरकार !

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार की वापसी की भविष्यवाणी सारे एग्जिट पोल में की गई है, लेकिन BJP ने जो सर्वे कराया है, उसके मुताबिक बीजेपी दिल्ली में कम-से-कम 38 सीटों पर जीत हासिल करेगी। इस सर्वे के अनुसार आप को 30 से 32 सीटें मिल सकती है। ऐसा भाजपा नेताओं का मानना है।

सवाल उठ रहा है कि बीजेपी के इस आकलन का आधार क्या है? और वह सभी एग्जिट पोल के गलत होने का दम क्यों भर रही है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, उसके दावे के तीन आधार हैं। अंतिम दो घंटों में 17% के करीब वोटिंग, पार्टी का आंतिरक सर्वे और चुनाव खत्म होने के बाद ‘आप’ का चुनाव आयोग पर हमालवर होना। एक बीजेपी नेता ने बताया कि पार्टी ने जो सर्वे कराया है, उसके मुताबिक बीजेपी दिल्ली में कम-से-कम 38 सीटों पर जीत हासिल करेगी। इस सर्वे के अनुसार आप को 30 से 32 सीटें मिल सकती है।


पार्टी नेताओं का आकलन है कि अंतिम दो घंटों में हई 17% वोटिंग को किसी एग्जिट पोल में शामिल नहीं किया गया है। पार्टी नेताओं के तर्क हैं कि जब 6 बजे एग्जिट पोल्स में आंकड़े दिखा दिए गए तो इसका साफ मतलब है कि इसमें दोपहर तक के ही सैंपल शामिल किए गए होंगे, जबकि दिल्ली में अंतिम घंटों में बंपर वोटिंग हुई है।

पार्टी के संगठन महासचिव बीएल संतोष ने दो ट्वीट्स करके इस ओर इशारा किया है। उन्होंने लिखा है, ‘तीन फैक्टर्स पर गौर करने की जरूरत है। आखिर के दो घंटे में करीब 17% मतदान, ईवीएम को लेकर आाम आदमी पार्टी का नैरेटिव और तीसरा फैक्टर है एग्जिट पोल के नतीजे।’ उन्होंने सवाल पूछा है कि एग्जिट पोल के अलावा कुछ और होने की संभावना दिख रही है?


गृह मंत्री अमित शाह भी बीजेपी के 70 में से 45 सीटें जीतने का दावा कर चुके हैं तो पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी राजनीतिक पंडितों को चुनौती देने के अंदाज में ऐलान कर चुके हैं कि पार्टी 48 सीटें हासिल कर रही है।

दरअसल चुनाव खत्म होने और एग्जिट पोल्स में जीत के भविष्यवाणी के बाद भी आम आदमी पार्टी जिस तरह से ईवीएम और चुनाव आयोग पर हमलावर है, उससे भी बीजेपी की उम्मीदें बढ़ी हैं। अब देखना होगा की 11 फरवरी को जब ईवीएम खुलेंगे तो किसकी सरकार बनेगी और एग्जिट पोल्स कितने सही साबित होंगे ।