Delhi Exit Polls : आम आदमी पार्टी के लिए खुशखबरी, भाजपा-कांग्रेस का क्या है हाल

दिल्ली का विधानसभा चुनाव खत्म पेश है एग्जिट पोल जो आपको नतीजों का सबसे सटीक अनुमान बताएगा. एग्जिट पोल की पल-पल की अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहें।


पोल ऑफ एग्जिट पोल के अनुसार दिल्‍ली की 70 विधानसभा सीटों में आम आदमी पार्टी 51 सीटें जीत सकती है जबकि बीजेपी को 18 सीटें मिल सकती हैं।

ABP News-C Voter के अनुसार आम आदमी पार्टी 49-63 सीटें जीतकर फिर सरकार बना सकती है। वहीं बीजेपी को 5-19 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस 0-4 सीटें जीत सकती है।

India News-Neta के एग्जिट पोल के अनुसार बीजपी की सरकार बनाने की उम्‍मीदें इस बार भी धुंधली होती दिख रही हैं। उसके खाते में 11-17 सीटें जा सकती हैं। वहीं आम आदमी पार्टी 53-57 सीटें जीतकर आसानी से फिर सरकार बना सकती है।

रिपब्लिक टीवी के एग्जिट पोल की बात करें तो आम आदमी पार्टी के खाते में 48-61 सीटें जा सकती हैं वहीं बीजेपी के खाते में 9-21 सीटें जाने की संभावना है।

सुदर्शन न्‍यूज के अनुसार आम आदमी पार्टी 40-45 सीटें जीत सकती है और इस तरह सरकार बनाने में कामयाब हो सकती है। वहीं बीजेपी 24-28 सीटें जीत सकती है।

टीवी 9 भारतवर्ष-सिसेरो के एग्जिट पोल के अनुसार आम आदमी पार्टी 54 सीटें जीत सकती है जबकि बीजेपी को 15 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है।

टाइम्‍स नाउ के एग्जिट पोल के अनुसार दिल्‍ली की 70 सीटों में से आम आदमी पार्टी को 44 सीटें मिल सकती हैं जबकि बीजेपी को 26 सीटें मिलने का अनुमान है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में साल 2015 के चुनाव में दिल्ली में 67.12 फीसदी वोट दर्ज किए गए। वहीं, 2013 के चुनाव में वोट फिसदी 65.63 रहा। 2008 के विधानसभा चुनाव में दिल्ली में 57.58 फीसदी लोगों ने वोट किया था। 2003 में 53.42 फीसदी ने। गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनाव में एक तरफा जीत हासिल की थी और 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं बीजपी को 3 और 15 साल दिल्ली पर राज करने वाली कांग्रेस को हिस्से शून्य सीटें आई थीं। आप को तब 54% वोट मिले थे जो 2017 के नगरपालिका चुनाव में 26% और फिर लोकसभा चुनाव में गिरकर 18% पर आ गए और आम आदमी पार्टी खाता भी नहीं खोल सकी। 2015 से अबतक भाजपा और कांग्रेस दोनों ने ही अपने वोट प्रतिशत में बढ़त हासिल की है।