अरविंद केजरीवाल ने पढ़ा हनुमान चालीसा, होने लगा सियासी वार-पलटवार

सीएम केजरीवाल ने सोमवार को एक निजी चैनल के साथ बातचीत में खुद को हनुमान भक्त बताते हुए हनुमान चालीसा पढ़ा था। उन्होंने कहा था कि वह बचपन से बजरंग बली के सबसे बड़े भक्त हैं। दिल्ली के सीएम ने कहा कि वह अक्सर अपने पड़ोस और कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर में पूजा के लिए जाते हैं।

नई दिल्ली : दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को खुद को कट्टर हनुमान भक्त बताने के बाद अब सियासी वार-पलटवार शुरू हो गया है। दिल्ली के मॉडल टाउन से बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के हनुमान चालीसा पढ़ने पर तंज कसा। वहीं, मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने चौहान ने भी बिना नाम लिए केजरी पर चुटकी ली और कहा कि हनुमान से आज के ‘लंकेश्वर’ भी डरते हैं।

बता दें कि सीएम केजरीवाल ने सोमवार को एक निजी चैनल के साथ बातचीत में खुद को हनुमान भक्त बताते हुए हनुमान चालीसा पढ़ा था। उन्होंने कहा था कि वह बचपन से बजरंग बली के सबसे बड़े भक्त हैं। दिल्ली के सीएम ने कहा कि वह अक्सर अपने पड़ोस और कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर में पूजा के लिए जाते हैं।

केजरीवाल के इस बयान के बाद बीजेपी ने उनपर तंज भरे हमले शुरू कर दिए। कभी आम आदमी पार्टी में रहे और अभी मॉडल टाउन से बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर केजरीवाल पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल हनुमान चालीसा बढ़ने लगे हैं, अभी तो ओवैसी भी हनुमान चालीसा पढ़ेगा। ये हमारी एकता की ताकत है। ऐसे ही रहना है। इकट्ठा रहना है। एक होकर वोट करना। हम सबकी एकता से 20% वाली वोट बैंक की गंदी राजनीति की कब्र खुदकर रहेगी।’

धर, मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी बिना नाम लिए केजरीवाल पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘हनुमान जी से आज के लंकेश्वर भी भयभीत होते हैं। बोलो महाबली श्री हनुमान की जय।’

बीजेपी के गोरखपुर से सांसद रविकिशन ने भी केजरीवाल के हनुमान चालीसा पढ़ने पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को अचानक शाहीन बाग में बिरयानी खिलाने के बाद अब उनको याद आया कि मैं हिंदू हूं। हनुमान जी को अब ये बुड़बक नहीं बना सकते हैं। हनुमान चालीसा पढ़ें य पेड़ से उल्टा लटक जाएं, ये चुनाव हार रहे हैं।