देवकीनंदन ठाकुर ने किया राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान

0
71

नई दिल्लीः एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन के खिलाफ लगातार विरोध कर रहे कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने अमेरिका से इस मुद्दे पर सोमवार फेसबुक लाइव किया था। जिसमें उन्होंने लोगों से राय मांगी थी। इसके बाद अगले दिन उन्होंने अपनी अलग राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया। देवकीनंदन ने फेसबुक लाइव में कहा था कि, संसद में किसी भी सांसद ने इस एक्ट का विरोध नहीं किया। जिस कारण से वह राजनीतिक पार्टी बना रहे हैं।

देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि, हमने पीएम मोदी की अधिकतर बातों का समर्थन किया। इस संसोधित एक्ट की वजह से देश दो भागों में बंट नजर आ रहा है। ठाकुर ने कहा कि, इस मुद्दे पर पीएम मोदी ने हमारे मन की बात नहीं सुनी, आप अपनी बात सुनाते हो लेकिन मेरी बात नहीं सुनी। इस मुद्दे पर मैं आवाज उठा रहा हूं। इस मुद्दे पर लोग मुझे कई तरह की राय दे रहे हैं। कुछ लोग कह रहे है कि आप अपने लोगों को चुनाव में उतारिए। संसद में सवर्णों की आवाज उठा सकें।

इस मामले को देखकर लग रहा है कि, देवकीनंदन ठाकुर ने आगामी चुनाव में भाजपा का विरोध करने की फैसला लिया है। देवकी नंदन ने इस मुद्दे पर मंगलवार को फिर इस मामले पर फेसबुक लाइव किया। देवकीनंदन ठाकुर ने भाजपा पर आरोप लगाया कि, सत्ता में बैठे लोग हमारी आवाज सुन नहीं रहे हैं। लोग रो रहे हैं, लेकिन कोई आंसू पोछने नहीं आया। ऐसा लग रहा है कि हम अपने देश में पराए हो गए हैं।

देवकीनंदन ने कहा कि, मैंने कल लोगों से सुझाव मांगे थे। अधिकांश लोगों ने मुझे मैदान में आने के लिए कहा है। हालांकि मैं चुनाव लड़ने से इंकार कर चुका हूं। लेकिन मैं अपने लोगों को मैदान में उतारूंगा। मैं 20-22 दिन बाद भारत आ रहा हूं। 4 नंबवर से मैं इस चीज को आगे बढ़ाउंगा। मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। मैं सिर्फ कथा करुंगा। देवकी नंदनठाकुर ने अखंड भारत मिशन नाम की पार्टी बनाने की घोषणा की।

देवकीनंदन ने कहा कि, अगर सरकार एक महीने के भीतर हमारी मांगे मान लेती है तो हम चुनाव नहीं लड़ेगे। अगर सरकार हमारी मांगे नहीं मानती है तो मध्य प्रदेश से अपना चुनावी बिगुल फूंकेगे। हम हर सीट पर मध्य प्रदेश में अपने लोगों को चुनाव लड़ाएंगे। संगठन के लोग 2019 में भी चुनाव लड़ेंगे। ईमानदार उम्मीदवारों के लिए एक फॉर्म तैयार किया जाएगा और वो ही चुनाव लड़ सकेंगे। मेरा संगठन देश की अखंडता के लिए काम करेगा।