मध्य प्रदेश में कमलनाथ, सिंधिया, दिग्विजय सबकी अलग कांग्रेस – विजयवर्गीय

0
1

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मध्य प्रदेश में अलग-अलग नेताओं की अलग-अलग कांग्रेस हैं। ये खेल कांग्रेस में चलता है और यही संस्कार कांग्रेस के हैं।

कैलाश विजयवर्गीय निगम बंटवारे के विरोध में राजभवन पहुंचे थे। राज्यपाल से मुलाकात के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने प्रदेश कार्यालय में मीडिया से चर्चा की।

विजयवर्गीय ने कहा कि, ‘प्रदेश में जितने नेता उतनी ही कांग्रेस है। यहां सिंधिया, कमलनाथ, दिग्विजय सिंह जी की कांग्रेस अलग है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘ये अलग-अलग व्यक्तियों की कांग्रेस है, इसलिए कब, कौन, किसपर चोट करता है, ये समझ में नहीं आता। दिग्विजय सिंह हारे तो सिंधिया और कमलनाथ एक हो गए थे, सिंधिया हारे तो कमलनाथ और दिग्विजय सिंह एक हो गए थे, ये खेल कांग्रेस में चलता रहता है और ये कांग्रेस के संस्कार भी हैं।’

आपको बता दें कि कमलनाथ सरकार की कर्ज माफी को लेकर सिंधिया ने सवाल उठाए थे। वहीं दिग्विजय सिंह और मंत्री उमंग सिंघार के बीच अनबन की खबरें भी सामने आईं थीं। सरकार बनने के बाद कांग्रेस में ऐसे कई मौके आए, जिसको लेकर बीजेपी हमेशा से हमलावर रही है।

रायसेन में किसान खुदकुशी के मामले में कैलाश विजयवर्गीय ने सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा, ‘किसान की मौत के लिए सरकार और मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं। कमलनाथ ने कर्जा माफ नहीं किया और इधर कर्जमाफी के चक्कर में किसानों का बजट बिगड़ गया। पूरे प्रदेश में सरकार के खिलाफ किसानों में आक्रोश है।’

निगम बंटवारे के विरोध को कैलाश विजयवर्गीय ने सरकार का षड्यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि नगर निगम पर कब्जा करने के लिए कांग्रेस ने षड्यंत्र रचा है। इसी षड्यंत्र के तहत निगमों को बांटना चाहते हैं। ।

कैलाश विजयवर्गीय ने आंगनबाड़ियों में अंडा बांटने के बयान पर कहा कि लोगों के धर्म और आस्था के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, बीजेपी इसका विरोध करेगी।

कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को जम्मू कश्मीर नहीं जाने देने के सवाल पर कहा कि जिन्हें जाना है, वो जा रहे हैं। कोर्ट की परमिशन लेकर कई गए हैं, जिन्हें जाना है वो परमिशन के साथ जा सकते हैं।