Home > Election > फिर छिड़ी सिंबल पर जंग, नोट पर हाथी और कमल का निशान क्यों ?

फिर छिड़ी सिंबल पर जंग, नोट पर हाथी और कमल का निशान क्यों ?

dimple yadav akhilesh yadav

जौनपुर : यूपी के जौनपुर में सीएम अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव को देखने के लिए एक बार फिर से भीड़ बेकाबू हो गई। बाद में डिंपल के माइक थामने पर लोग शांत हुए। इस बीच रैली को संबोधित करते हुए डिंपल यादव ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

राहुल को अमेठी में वोट मांगने का हक़ नहीं

उन्होंने नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2 हजार के नए नोट पर सवाल उठाते हुए कहा कि जो नए नोट आए हैं उनपर हाथी और कमल क्यों लगाए गए हैं? उन्होंने कहा, ‘मोदी मन की बात करते हैं। तीन साल ‘मन की बात’ करते-करते कब हमारी बहनों, माताओं का सिलेंडर 400 रुपए से 700 का हो गया आपको पता चला।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- गधे से प्रेरणा लेता हूं

डिंपल ने आगे कहा, जो तीन साल से मन की बात कर रहे थे उनके मन में भेदभाव, जाति-धर्म, दीवाली-रमजान, श्मशान-कब्रिस्तान की बात थी।

रैली में राहुल ने की मोदी की एक्टिंग, लोग खूब हँसे

सांसद ने रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश सरकार की कई उपलब्धियों को भी गिनाया। इसके साथ ही उन्होंने पूरे संबोधन में महिलाओं का जिक्र किया। बता दें कि डिंपल यादव को आमतौर पर कम ही बोलते देखा जाता है, वह संसद में सवाल नहीं पूछने के लिए जानी जाती रही हैं, संसद में हुई बहस में उन्होंने सिर्फ दो बार हिस्सा लिया और उनकी उपस्थिति का रिकॉर्ड मात्र 37 प्रतिशत रहा। 2014 में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों पर रुक रुककर दिए गए भाषण में डिंपल ने कहा था कि उनके ससुर खुश हैं कि ‘आखिरकार मैं बोल रही हूं।’

शाह बोले कसाब ने किया यूपी का बंटाधार

डिंपल यहां एक चुनावी रैली को संबोधित कर रही थी। रैली में उन्हें बेकाबू भीड़ का सामना करना पड़ा है। रैली में भीड़ उस वक्त बेकाबू हो गई, जब समर्थक अखिलेश के समर्थन में नारे लगाने लगे। फिर डिंपल ने मंच पर जाकर लोगों को शांत कराया। हालांकि, उन्हें भाषण के दौरान काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लेकिन वो डरी नहीं और बोलती रहीं। गौरतलब है कि इससे पहले डिंपल यादव को रैली के दौरान हन्डिया और फिर इलाहाबाद में बेकाबू भीड़ का सामना करना पड़ा था।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com