Home > India News > डिंडौरी: उज्जवला योजना के नाम पर ग्रामीणों से अवैध वसूली

डिंडौरी: उज्जवला योजना के नाम पर ग्रामीणों से अवैध वसूली

मोदी सरकार को किस तरह से बदनाम किया जा रहा है, इसकी बानगी देखने को मिली डिंडौरी जिले में। मामला है प्रधानमंत्री उज्जवला यौजना का जिसमे सरकार गरीब घरेलु महिलाओ को मुफ्त में गैस कनेक्शन बाट रही है।

शहर हो या फिर गाव उन्हें पंहुचा कर कनेक्शन उपलब्ध करवा रही है। लेकिन डिंडौरी जिले के चिचरिंगपुर ग्राम पंचायत में ग्रामीण महिलाओ ने गैस कंपनी के ऊपर अवैध वसूली का आरोप उस वक्त लगाया। जब खुद मध्य प्रदेश के खाद्य मंत्री गाव में ग्राम स्वछता दिवस कार्यक्रम में शिरकत करने पहुचे थे।

वही मंत्री ने खाद्य अधिकारी को मौके पर बयान लेकर गैस एजेंसी के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश दिए। इस दौरान मंच में जिला के कलेक्टर अमित तोमर, जिला पंचायत सीईओ अनुप्रिया और जिला पंचायत अध्यक्ष ज्योति प्रकाश धुर्वे मंच में मौजूद थी।

दरअसल डिंडौरी जनपद के ग्राम पंचायत चिचरिंगपुर के मोह्गाव में ग्राम स्वछता दिवस कार्यक्रम अंतर्गत प्रदेश के खाद्य मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे पहुचे थे। जब मंत्री मंच से पंचायत के सचिव रवि चक्रबर्ती से उज्जवला योजना की जानकारी ले रहे थे। मोह्गाव की जानकारी ली और सचिव ने जवाब दिया की गैस की गाडी 3 बार आई पर महिलाओ ने गैस नहीं लिया। तभी कार्यक्रम में बैठी सैकड़ो महिलाओ ने यह आरोप लगाया की गैस वितरण करने वालो ने गाव में 200 रु से लेकर 300 रु तक गैस बाटने के नाम से अवैध वसूली की है।

जिन गरीब महिलाओ ने पैसा दे दिया उसे वितरक ने गैस सामग्री दे दी और जो गरीब महिला पैसा नहीं दे पाई। उन्हें गैस वितरक ने बिना गैस सामग्री बाटे चले गए।

ग्राम पंचायत चिचरिंगपुर, मोह्गाव और चंदोल गाव में हितग्राहियों से उज्जवला योजना अंतर्गत गैस कनेक्शन बाटने के नाम पर जमकर अवैध वसूली की गई। एसा नहीं था की इस बात की जानकारी ग्राम पंचायत के सचिव और सरपंच को नहीं थी, लेकिन बिना अधिकारियो को शिकायत किये दोनों ने मामले को दबा कर रखा।

गरीबो के लिए चलाई जा रही सरकार की योजना में किस तरह से डाका डाला जा रहा है। यह मंत्री जी के कार्यक्रम के दौरान खुलासा हुआ। वही एक पंचायत में अवैध वसूली का पहला मामला आया है। जांच करने पर कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।

चंदोल गाव के निवासी राजेश का आरोप है की उज्जवला योजना में लाभ मिला है, पर गैस वितरक ने 200 रु – 200 रु लिए है। मेरी पत्नी के नाम से था मेने भी दिया है। 7 से 8 लोगो ने पैसा दिया है। जिन्होंने पैसा दिया उन्हें गैस सामग्री मिली और जो नहीं दे पाए पैसा उन्हें नहीं मिली। खाद्य मंत्री आये है उनसे शिकायत कर रहे है।

कुंती बाई का आरोप है की हमसे 300 रु लिए है गैस लाने के लिए। हम नहीं दे रहे थे तो लौटा कर ले गए गैस। फिर से लौटा कर लिए है।

 

रिपोर्ट@ दीपक नामदेव

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .