Home > State > Delhi > डीजल टैक्सी वालों का डीएनडी पर जाम, दिल्ली-नोएडा मार्ग अवरुद्ध

डीजल टैक्सी वालों का डीएनडी पर जाम, दिल्ली-नोएडा मार्ग अवरुद्ध

file pic

file pic

दिल्ली- एनसीआर में डीजल टैक्सियों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए बैन के बाद आज इसके विरोध में टैक्सी ड्राइवरों ने एनसीआर में जगह-जगह जाम लगा रखा है। इस जाम से सबसे ज्यादा प्रभावित दिल्ली-गुड़गांव सीमा है, जहां करीब 2 किलोमीटर लंबा जाम लगा है। इस वजह से दिल्ली से गुड़गांव और गुड़गांव से दिल्ली जाने वाले लोग घंटों से जाम में फंसे हैं।

इसके साथ ही डीजल टैक्सी वालों ने डीएनडी पर भी जाम लगा रखा है जिससे दिल्ली से नोएडा और नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता अवरूद्ध हो गया है।

बता दें कि दिल्ली में ऐसी 27000 टैक्सियां हैं जो डीजल से चलती हैं और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इन पर बैन लगा गया है। यही वजह है कि टैक्सी ड्राइवर इस बैन का विरोध कर रहे हैं। बता दें ‌क‌ि डीएनडी पर लगे जाम को पुल‌‌िस ने खुलवा ‌द‌िया है और प्रदर्शनकारी ड्राइवरों को भी ह‌िरासत में ले ल‌िया है। वहीं द‌िल्ली के आश्रम मार्ग पर अब भी भारी जाम लगा हुआ है।

ज्ञात हो कि राष्ट्रीय राजधानी में डीजल और पेट्रोल से चलने वाली टैक्सियों पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा लगाई गई रोक रविवार से लागू हो गई। कुछ टैक्सी मालिकों ने चेतावनी दी थी कि इस प्रतिबंध से हताशा में टैक्सी व्यवसाय से जुड़े लोग आत्महत्या भी कर सकते हैं। वहीँ कैब चालकों ने इस फैसले को दमनकारी करार देते हुए कहा है कि यदि इसे बदला नहीं गया तो इसकी वजह से कई लोग आत्महत्या कर लेंगे। दिल्ली में 27 हजार से अधिक टैक्सी डीजल से चलती हैं। कैब चालकों ने आईएएनएस को बताया कि उन लोगों ने आपस में विचार-विमर्श करने के बाद विरोध अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है।

उनका दावा है कि राष्ट्रीय राजधानी में लगभग आधी टैक्सी डीजल से चलती हैं। सेंट्रल दिल्ली के कुमार टैक्सी सर्विस के मालिक एस. कुमार ने आईएएनएस से कहा, “मैंने सुबह से 17 बुकिंग रद्द की हैं क्योंकि मेरी अधिकांश गाड़ियां डीजल से चलती हैं। मेरे पास सीएनजी से चलने वाली केवल पांच गाड़ियां हैं। हम लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि अदालत और सरकार क्यों इस तरह के फैसले ले रही हैं?”

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com