demo pic

पटना: बिहार के बक्सर जिले में रेलवे ड्राइवर की एक बड़ी लापरवाही से जुड़ी खबर सामने आई है। बक्सर रेलवे स्टेशन पर एक पैसेंजर ट्रेन का ड्राइवर ट्रेन को बीच पटरी पर छोड़कर नहाने-खाने चला गया। इस कारण रेल यात्रियों को 2 घंटे इंतजार करना पड़ा। मामला बीते मंगलवार का बताया जा रहा है।

विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पटना से मुगलसराय जा रही यह पैसेंजर ट्रेन अपने टाइम टेबल के हिसाब से ही चल रही थी। जब सुबह 10:55 बजे ट्रेन बक्सर स्टेशन पहुंची तो यात्रियों ने सोचा भी नहीं था कि इस तपती गर्मी में उन्हें यहां दो-ढाई घंटे इंतजार करना पड़ेगा। पैनल कंट्रोलर से सिग्नल मिलने पर भी 20 मिनट बाद जब ट्रेन स्टेशन से नहीं खुली तो यात्री परेशान होने लगे।

इतना ही नहीं पैनल कंट्रोलर ने घोषणा करवाई कि ड्राइवर जल्द से जल्द ट्रेन लेकर निकले ताकि दूसरी ट्रेनें आगे बढ़ सकें, लेकिन रेलगाड़ी फिर भी आगे नहीं बढ़ी तो पूरे स्टेशन पर ढुंढ़वा लिया गया। लेकिन, ट्रेन के ड्राइवर एमके सिंह का किसी को कोई अता-पता नहीं चल पाया। दूसरी तरफ ट्रेन के लेट होने की वजह से मुसाफिरों का हंगामा बढ़ने लगा।

कुछ देर बाद जानकारी मिली कि ड्राइवर साहब अपने घर गए हैं और नहा-खाकर आएंगे। स्टेशन मास्टर ने इस बात का अनाउंसमेंट भी करवा दिया। करीब ढाई घंटे बाद दोपहर 1:17 बजे जब ड्राइवर वापस आया तब जाकर ट्रेन स्टेशन से चली।

मौके पर मौजूद मीडिया कर्मियों ने जब ड्राइवर से पूछा कि सिग्नल होने के बाद भी ट्रेन इतनी लेट क्यों है तो उन्होंने बिना कुछ कहे इंजन का दरवाजा बंद कर लिया और ट्रेन लेकर चले गए। इस मामले में रेल प्रवक्ता आरके सिंह ने कहा है कि मामला गंभीर है और इसकी जांच कराने के बाद ड्राइवर पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि बीते माह भी बक्सर में एक ऐसा ही मामला सामने आया था जब ड्राइवर ने ट्रेन को केवल इसलिए रोक दिया था ताकि उसका सहायक चाय पी सके। इस कारण क्रॉसिंग पर काफी जाम लग गया था। इसके बाद जब गांववालों ने हंगामा किया तब जाकर ट्रेन आगे बढ़ी।