उत्तर भारत समेत जम्मू- कश्मीर तक भूकंप के झटके

0
12

नई दिल्लीः दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। जम्मू-कश्मीर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। पाकिस्तान, तजाकिस्तान और अफगानिस्तान में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। इन तीनों जगहों पर रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.2 थी। अफगानिस्तान के हिंदूकुश की पहाड़ियों में भूकंप का केंद्र बताया जा रहा है।

अभी तक इस भूकंप से किसी नुकसान की खबर नहीं है। खराब मौसम के बाद अब इस प्राकृतिक आपदा से लोगों में दहशत पैदा हो गई है। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 5.9 आंकी गई है। जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

हालांकि दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। दहशत में लोग अपने घरों और दफ्तरों से बाहर निकल कर आ गए। एक ओर जहां लोगों को कुछ दिन से तूफान की खबरों और अफवाहों में दहशत में डाल रखा है वहीं भूकंप के झटकों से लोग काफी डर गए।

यह भूकंप हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी महसूस किया गया। इसकी गहराई 96 किलोमीटर थी।

दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में एक बार फिर से मौसम ने अपना रुख बदल लिया है। हरियाणा के रोहतक और झज्जर समेत अन्य इलाकों में तेज बारिश शुरू हो गई है।

जानकारी के अनुसार भिवानी के कई इलाकों में ओले भी पड़ रहे हैं। इन सब से दोपहर से ही पूरे दिल्ली-एनसीआर का मौसम बदला हुआ है। आईएमडी ने दिल्ली में भी अलर्ट जारी कर दिया है कि यहां और आसपास के इलाकों जैसे झज्जर, होडल और पलवल आदि में तेज हवाओं के साथ बारिश भी हो सकती है।

हरियाणा के ऊपर बने चक्रवाती प्रभाव और उत्तर-पूर्व राजस्थान से सेंट्रल मध्यप्रदेश तक बने पश्चिमी-पूर्वी हवाओं के प्रभाव के कारण पैदा हो रहे दबाव का असर लगातार दूसरे दिन दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में देखने को मिला।

बुधवार की शाम को फिर से करीब 70 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से चली तूफानी हवाओं और हल्की बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। कई जगह पर तूफान के कारण पेड़ आदि गिरने की घटनाएं हुईं और ट्रैफिक जाम होने के अलावा बिजली गुल हो गई। मौसम विभाग ने बुधवार को इससे भी खराब मौसम रहने का अनुमान जताया है।

तूफान और बारिश का असर दिल्ली, चंडीगढ़, पंजाब के मोहाली व पटियाला, यूपी के नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बुलंदशहर, बागपत, मेरठ, मुजफ्फरनगर और बिजनौर, हरियाणा के अंबाला, पंचकूला, रोहतक, पानीपत, भिवानी, राजस्थान के जोधपुर, जयपुर, सीकर, बीकानेर तक देखने को मिला।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार को भी जम्मू-कश्मीर के ऊपर बन रहे पश्चिमी प्रभाव और हरियाणा व इसके नजदीकी क्षेत्रों में बन रहे चक्रवाती सर्कुलेशन के कारण जमकर बारिश होने और तूफान आने की संभावना है। तूफान और बारिश का प्रभाव पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में रह सकता है।