Home > Editorial (page 7)

Category Archives: Editorial

कल तक बंदूक का मतलब आतंक था, आज वादी की हवाओं में बारुद है……

कल तक बंदूक का मतलब आतंक था, आज वादी की हवाओं में बारुद है……

जहाज ने जमीन को छुआ और तो खिड़की से बाहर का मौसम कुछ धुंधला धुंधला सा दिखायी दिया। तब तक ...

Read More »

क्षेत्रीय नेताओं को आगे करके मज़बूत बन सकती है कांग्रेस

क्षेत्रीय नेताओं को आगे करके मज़बूत बन सकती है कांग्रेस

आज़ादी के बाद देश पर सबसे लम्बे अरसे तक एक छत्र शासन करने वाली कांग्रेस प्रदेशों में क्षेत्रीय नेताओं को ...

Read More »

सत्ता के सारे मोहरे चुक चुके हैं तो नारा हिन्दू राष्ट्र का !

सत्ता के सारे मोहरे चुक चुके हैं तो नारा हिन्दू राष्ट्र का !

दुनिया के सबसे पुराने लोकतांत्रिक देश अमेरिका में 16 फीसदी लोग किसी धर्म को नहीं मानते । लेकिन दुनिया के ...

Read More »

शराब: प्रतिबंध ज़रूरी या शासकीय संरक्षण?

शराब: प्रतिबंध ज़रूरी या शासकीय संरक्षण?

शराब एक ऐसा नशीला पेय पदार्थ है जिसकी संभवत: कोई भी व्यक्ति यहां तक कि इसका सेवन करने वाले लोग ...

Read More »

बैलगाड़ी पर सवार देश में हर किसी को सत्ता चाहिये

बैलगाड़ी पर सवार देश में हर किसी को सत्ता चाहिये

54 बरस में भारत कहां से कहां पहुंच गया। 1963 में पहली बार इसरो को साइकिल के कैरियर में राकेट ...

Read More »

वैलेंटाइन डे : पाबंदियों के बजाय जज़्बे को बलंदियों पर ले जाए

वैलेंटाइन डे : पाबंदियों के बजाय जज़्बे को बलंदियों पर ले जाए

आज वैलेंटाइन डे है। मोहब्बत के इज़हार का दिन। अपना मुल्क अफ़ग़ानिस्तान छोड़ा तो उम्र काफ़ी कम थी। यौम-ए-मुहब्बत जैसे ...

Read More »
Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com