महाराष्ट्र: भाजपा में रार, एकनाथ बोले- नहीं लेना चाहिए था समर्थन

मुंबई: महाराष्ट्र में अजित पवार के साथ सरकार गठन को लेकर भाजपा में विरोध के स्वर सुनाई दे रहे हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री एकनाथ खडसे ने महाराष्ट्र में अजित पवार के साथ सरकार बनाने पर असहमति जताई है।

उन्होंने कहा कि मेरी निजी राय है कि भाजपा को अजित दादा पवार का समर्थन नहीं करना चाहिए था। वह बड़े पैमाने पर सिंचाई घोटाले के आरोपी है और कई आरोपों का सामना कर रहे हैं। हमें उनके साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए।

देवेंद्र फडणवीस से जब पूछा गया कि क्या अजित पवार के साथ सरकार बनाना गलती थी? तब उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि मैं सही समय पर सही बात कहूंगा, चिंता न करें।

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि अजीत पवार ने आखिर में अपनी गलती स्वीकार की। यह पारिवारिक मामला है और पवार साहब ने उन्हें माफ कर दिया है। पार्टी में उनका कद बहुत बड़ा है और पार्टी में उनकी स्थिति नहीं बदली है। नवाब मलिक के इस बयान के बाद यह साफ है कि उप मुख्यमंत्री अजित पवार ही बनेंगे क्योंकि पहले हुई बैठकों में एनसीपी कोटे से उनका नाम ही उप मुख्यमंत्री के पद के लिए तय हुआ था।