चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगने के बाद ये काम कर रही प्रज्ञा ठाकुर

0
30

आचार संहिता उल्लंघन मामले में भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा पर चुनाव आयोग ने प्रचार पर 72 घंटे का बैन लगाया तो गुरुवार की सुबह वह भोपाल के कर्फ्यू वाली माता के मंदिर पहुंच गईं।

उन्होंने वहां पूजा की और कीर्तन में भी भाग लिया। इसे साध्वी प्रज्ञा का ‘योगी स्टाइल’ कहा जा रहा है।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार पर भी चुनाव आयोग ने दो दिन(48 घंटे) का बैन लगाया था, तो वह दोनों ही दिन मंदिरों में दर्शन-पूजन करते दिखे थे।

मालूम हो कि बाबरी मस्जिद विध्वंश को लेकर विवादित बयान के बाद चुनाव आयोग ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर के चुनाव प्रचार पर तीन दिन की रोक लगा दी है। यह आदेश गुरुवार सुबह बजे से लागू है।

प्रज्ञा ठाकुर ने बाबरी मस्जिद गिराने को गर्व की बात बताया था। वहीं, प्रचार पर रोक लगाए जाने के बाद उन्होंने बड़े ही संयम से प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि चुनाव आयोग के निर्णय का वह सम्मान करती हैं।

एक निजी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि वह बाबरी मस्जिद ढांचे पर चढ़ी थीं और उसे गिराने में मदद की थी।

साध्वी ने आगे कहा था कि बाबरी मस्जिद की जगह राम मंदिर बनाया जाएगा। साध्वी प्रज्ञा ने कहा था- ‘मैंने ढांचे पर चढ़कर तोड़ा था। अब वहीं राम मंदिर बनाएंगे।’

बता दें कि मध्यप्रदेश भोपाल से साध्वी प्रज्ञा सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं।