गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने दावा किया कि 14 फरवरी को हुआ पुलवामा हमला गोधरा की तरह बीजेपी का षड्यंत्र था।

बीजेपी और कांग्रेस के बाद अब एनसीपी में आए वाघेला ने आरोप लगाया कि पुलवामा हमले में इस्तेमाल हुए आरडीएक्स से लैस वाहन का शुरुआती रजिस्ट्रेशन गुजरात (GJ) का था। बुधवार (01 मई) को वाघेला ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बीजेपी सरकार ने आतंकवाद का इस्तेमाल चुनाव जीतने के लिए किया। उन्होंने कहा, ‘पिछले पांच सालों में कई आतंकी हमले हुए।’

‘खुफिया जानकारी थी तो पुलवामा का इंतजार क्यों किया’

वाघेला ने यहा भी कहा कि बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक में एक भी शख्स नहीं मारा गया।

एएनआई के मुताबिक वाघेला ने कहा, ‘बालाकोट एयर स्ट्राइक में कोई नहीं मारा गया। यहां तक की कोई इंटरनेशनल एजेंसी भी यह साबित नहीं कर पाई कि 200 आतंकी मारे गए। बालाकोट एक सोची-समझी साजिश थी। पुलवामा हमले को लेकर खुफिया सूत्रों से सूचना मिलने के बाद भी किसी तरह के एहतियातन कदम नहीं उठाए गए। अगर आपके पास बालाकोट को लेकर कोई जानकारी थी तो आपने इन कैंपों को लेकर कोई कदम क्यों नहीं उठाए। आप क्यों पुलवामा जैसी किसी घटना के घटने का इंतजार करते रहे?’

‘बीजेपी के नेता भी पार्टी से खुश नहीं’

हमले में बीजेपी के शामिल होने का आरोप लगाते हुए वाघेला ने कहा, ‘चुनाव जीतने के लिए सांप्रदायिक तनाव पैदा किया जा रहा है। गुजरात मुश्किल में है और बीजेपी के नेता भी पार्टी से खुश नहीं हैं। उन्हें लगता है कि वे बंधुआ मजदूर बन गए हैं।’

उल्लेखनीय है कि इस बार वाघेला के नेतृत्व में एनसीपी ने गुजरात में जोर-शोर से चुनाव लड़ा है।