Home > India > प्रधानमंत्री मोदी में भारतीय संस्कृति का रंग : फग्गन सिंह

प्रधानमंत्री मोदी में भारतीय संस्कृति का रंग : फग्गन सिंह

faggan singh kulaste latest newsमण्डला – भारतीय जनता पार्टी प्रशिक्षण महाभियान मण्डला के अंतिम दिवस केन्द्रीय राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने अपनी कार्य पद्धति संरचना विषय पर संबोधित करते हुऐ कहा कि भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय विचार धारा को लेकर कार्य कर रही है एवं कार्यकर्ता का निर्माण भी कर रही है । हमारी कार्य पद्धति का मूल मंत्र व्यक्ति से बड़ा दल, दल से बड़ा देश है । राज्य व केन्द्र में सरकार बनानें में पार्टी ने अनेक राजनैतिक समझौता किया परन्तु अपने मूल सिद्धांत को नहीं छोड़ा । मोदी सरकार ने पिछड़े, दलित, वंचित वर्ग के लिए काम करने वाले अन्य राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों को केन्द्र सरकार में मंत्री बनाया है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी में भारतीय संस्कृति का रंग भरा है इसलिए दुनिया में उनका सम्मान हो रहा है । उनका एक ही मकसद है भारतीय संस्कृति को पूरी दुनिया में पहचान दिलाना।

श्री कुलस्ते ने कहा समाज के अंतिम छोर में खड़े व्यक्ति का विकास करना अन्य राजनैतिक दलों के साथ सत्ता संमन्वय के साथ काम करने के बाद भी हमारी विचार धारा में कोई अंतर नहीं आया है । उन्होनें मण्डला प्रशिक्षण वर्ग उपस्थित पार्टी पदाधिकारियों से आग्रह किया कि संगठन विस्तार के लिए समाजिक व राजनैतिक रूप से प्रभावी लोगों को जोडे़े साथ ही संगठन के अंदर हर तरह का दायित्व निर्वाहन करने की पद्धति को समझे हर कार्यकर्ता के लिए काम, हर काम के लिए कार्यकर्ता की रणनीति से काम करने पर संगठन के आधार पर जनप्रतिनिधियों के निर्माण में कठिनाई नहीं होगी, संगठन की हर इकाई मजबूत हो इसका सतत् प्रयत्न होना आवश्यक है ।

उन्होंने इस बात की प्रसन्ता व्यक्त करते हुऐ कहा जिले के हजारों कार्यकर्ताओं ने मिलकर एक भव्य भाजपा कार्यालय का भवन निर्माण में अपना योगदान दिया । वर्ग में सांस्कृतिक अभ्युदय विषय पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग प्रचारक सुभाषजी ने विषय वक्ता के रूप में कहा दो हजार वर्ष तक हिन्दुस्तान में अनेक शासकों ने शासन किया परन्तु हमारी संस्कृति की पहचान बनी रही सांस्कृतिक राष्ट्रवाद हमारा मूल आधार रहा है । हमारे प्रेरणा स्त्रोत आजादी के बाद भारतीय हिन्दु संस्कृति के सिद्धांतों को लेकर देश में विकास करना चाहते थे । आज भी धारा 370, समान नागरिक संहिता, राम मंदिर निर्माण, गौवंश की सुरक्षा, मातृ शक्ति के हितों के लिए कानून के हम पक्षधर है । उन्होंने कहा दुनिया में 196 देश में सिर्फ पाॅच देश अंग्रेजीं का उपयोग करते है, शेष अपनी मातृ भाषा का उपयोग करते है हमें अपनी मातृ भाषा को बढ़ावा देने की जरूरत है । भारतीय संस्कृति में जियों और जीने दो की भावना है ।

वर्ग में महाकौशल विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष शशिकांत शुक्ला ने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद विषय पर कहा प्रशिक्षण का आशय विषय की जानकारी जितनी अधिक रहेंगी कार्यकर्ता लम्बें समय तक संगठन में काम कर सकेगा । एक लक्ष्य को लेकर काम करना है तो प्रशिक्षण आवश्यक है उन्होने कहा कि राष्ट्र की पहचान उसकी संस्कृति से होती है । अस्सी प्रतिशत संस्कृति हमारे धर्म से निकल कर पोषित हो रही है समाज के लिए साधना हमारी संस्कृति है अंहिसा परमों धर्माः परन्तु राष्ट्र रक्षा हेतु हिंसा परमों धर्माः आज के महौल के लिए प्रांसगिक है । हमारी संस्कृति सर्वभौमिक है लोकतंत्र हमारी संस्कृति का आधार है । यदि संस्कृति बचेगी तो समाज व देश बचेगा ।

प्रशिक्षण वर्ग के समापन सत्र में प्रदेश मंत्री, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति सम्पतिया उइके ने हमारी सरकार की उपलब्धिया विषय पर कहा भाजपा सरकार ने प्रदेश में हर वर्ग, हर समाज के लिए योजना बनाकर जनसेवा के संकल्प को पूरा करने का प्रयास कर रही है । केन्द्र सरकार ने दो वर्षो में सबका साथ सबके विकास के ध्येय वाक्य को पूरा करने का प्रयास शुरू कर दिया है । प्रधानमंत्री इस देश में विकास से जुड़े अनेक योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए पूरी दुनिया में संपर्क कर और बेहतर कार्य करने का कार्य कर रहे है । गांव गरीब, किसान, बेटी मातृ शक्ति, युवा के हित के लिए सरकार न केवल योजना बनाई है बल्कि उन्हें लाभ भी दे रही है ।

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी सुधीर कसार ने बताया कि वर्ग में कार्यक्रम की अध्यक्षता देवसिंह सैयाम, शैलेष मिश्रा, बालकिशन खाण्डेलवाल व रतन ठाकुर ने किया । जिले के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में भाजपा के 15 मंडलों के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया व सभी सत्रों में प्रश्नोतर काल के दौरान अनेक विषयों पर वक्तओं से प्रश्न किये ।

रिपोर्ट @ सैय्यद जावेद अली




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com