Home > India > केन्द्र व राज्य सरकार पर दर्ज हो किसानों की हत्या का केस

केन्द्र व राज्य सरकार पर दर्ज हो किसानों की हत्या का केस

demo pic

demo pic

फतेहपुर- उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के खागा तहसील के रमेश कल्याणकारी विद्यालय परिसर में भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी के बैनर तले उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया । जिसमे मुख्य अतिथि के तौर पर उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन के प्रांतीय महासचिव का0 फूलचंद्र यादव उपस्थित रहे ।

सभा को संबोधित करते हुए फ़ूलचंद्र यादव ने कहा कि आज प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से जंगल राज्य में तबदील हो गयी है । यहाँ के किसान मजदूरो का जीना मुश्किल हो गया है किसानो द्वारा बैंको के कर्ज की अदायगी न कर पाने की वजह से गरीब किसान मजदूर आये दिन आत्म हत्या करने को मजबूर हो गया है । किसानो के सामने एक जटिल समस्या उभर कर सामने आ रही है ।

राज्य व केंद्र की सरकारे पूरी तरह से किसानो की समस्या का निदान न करके उनके साथ शोषण कर रही है । बड़े बड़े भूमाफियाओं के सामने अपने आप को किसान असुरक्षित महसूस कर रहे है । किसानो की जमीनों पर सरकार के दबंग लोगो ने कब्ज़ा करना शुरू कर दिया है, लगातार गरीब किसान मजदूर लोगो की बहन बेटियां भी अपने आप को सुरक्षित नहीं महसूस कर रही है । प्रदेश में हो रही महिलाओ के साथ सामूहिक बलात्कार,दिन दहाड़े छेड़ छाड़ होने से अब लोगो ने अपने अपने बच्चियों को स्कूलो में भी भेजने में कतरा रहे है ।

यादव ने बुलंदशहर के हाइवे पर हुए एक ही परिवार के माँ बेटी के साथ हुए सामूहिक बलात्कार की कड़ी निंदा करते हुए सपा सरकार को बर्खास्त किये जाने की मांग भी किया । उन्होंने ये भी कहा कि सामूहिक बलात्कार के शिकार केवल गरीब परिवार के लोग ही क्यों हो रहे है । आखिर किसी पूंजीपतियो के लोगो के साथ इस तरह की घटना क्यों नहीं होती है ऐसे में कहीं न कहीं प्रदेश सरकार की क़ानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा रही है । किसानो के हितो की बड़ी बड़ी बाते करने वाली केंद्र की मोदी सरकार गरीब किसान व मजदूरो के खाते में 15 लाख रुपए आने का ख्वाब दिखाकर लोगो के साथ सिर्फ छलावा कर रही है ।

उन्होंने ये भी कहा कि खातो में पैसा तो आया है लेकिन गरीब किसान व मजदूरो के खातो में नहीं बल्कि बड़े बड़े पूंजीपतियो के खातो में 15 -15 लाख रुपए आये है । इन सब हालातों की जिम्मेदार हमारी केन्द्र व राज्य सरकार हैं इन सरकारों पर मजदूर व किसानों की हत्या व आत्महत्या का मुकदमा दर्ज हो चाहिए, हालांकि श्री यादव ने कहा की जनता जाग चुकी है इसका हिसाब आने वाले 2017 के विधान सभा के चुनाव में देगी । दलित महिलाओ के साथ शोषण किया जा रहा है और प्रदेश की सरकार मौन बनकर तमाशा देख रही है ।

पार्टी सम्मलेन में उत्तर प्रदेश खेत मजदूर युनियन के प्रांतीय महासचिव कामरेड फूलचंद्र यादव, भाकपा जिला सचिव का0 राम सजीवन सिंह, उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन के जिला अध्यक्ष सुमन सिंह चौहान, प्रदेश सचिव फूलचंद्र पाल, उत्तर प्रदेश किसान सभा के जिला सचिव राम प्रकाश, पूर्व नगर पंचायत खागा अध्यक्ष रामऔतार सिंह, हीरा लाल चौधरी, अवध बिहारी विश्वकर्मा व तमाम पार्टी कार्यकर्त्ता मौजूद रहे ।

रिपोर्ट- @सरवरे आलम




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com