किसान संघ की चेतावनी, भावों का विरोध किया तो पैर काट देंगे

खंडवा : भारतीय किसान संघ ने आज खंडवा के निगम चौराहे पर प्याज को लेकर नेताओं की बयानबाजी के विरोध में धरना प्रदर्शन किया।

किसान संघ ने चेतावनी दी कोई भी नेता ने किसानों की उपज के बढ़े हुए भावों का विरोध किया तो अगर वो गाँवो में आएगा तो उसके पैर काट देंगे।

किसान संघ ने किसानों की बदतर हालत के लिए सरकार की किसान नीति को जिम्मेदार ठराया।

पुरे देश में प्याज को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। आन्ध्रप्रदेश के विजयवाड़ा में तो सब्सिडी वाले प्याज खरीदने की लाइन में खड़े एक शख्स की कार्डिऐक अरेस्ट के चलते मौत हो गई।

वहीं खंडवा में भारतीय किसान संघ ने उन नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया जो प्याज के बढ़े हुए दामों का विरोध कर रहे हैं।

किसान संघ ने न सिर्फ विरोध जताया बल्कि धमकी देते हुए कहा कि अगर ऐसा कोई भी नेता जो किसानों की उपज के बढ़े हुए दामों का विरोध करता हैं तो उसे गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा। अगर वो गांव में घुस गए तो उनके पैर काट डालेंगे।

बता दें की प्याज के बढ़े हुए दामों को लेकर संसद में और संसद के बाहर नेता प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में किसान संघ की चेतावनी के चलते प्याज के दाम कम होते नहीं दिखते।

किसान संघ ने विरोध कर रहे नेताओं से सवाल पूछा कि जब प्याज सस्ता बिकता हैं तब ये लोग प्रदर्शन क्यों नहीं करते। जब नेताओं की नजर किसानों पर क्यों नहीं होती।

किसान संघ ने कहा कि हम पुरे देश में प्याज की कमी नहीं होने देंगे लेकिन पहले प्याज के दाम तय किए जाए। किसान संघ ने कहा कि जब प्याज की कीमत नहीं मिलती तो किसान आत्महत्या कर लेते हैं।