Home > Sports > Cricket > फातुल्लाह टेस्ट में शिखर धवन की तूफानी बल्लेबाजी

फातुल्लाह टेस्ट में शिखर धवन की तूफानी बल्लेबाजी

 shikhar

लगभग पांच साल बाद बांग्लादेश में टेस्ट मैच खेलने पहुंची टीम इंडिया ने एकमात्र टेस्ट मैच में मेजबान टीम के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। भारत ने जोरदार शुरुआत की और पहले विकेट के लिए अविजित शतकीय साझेदारी कर डाली।

भारत ने जोरदार शुरुआत की और पहले विकेट के लिए अविजित शतकीय साझेदारी कर डाली। लेकिन डेढ़ घंटे के बाद बारिश शुरू हो गई और खेल रोक देना पड़ा।

फातुल्लाह में खेले जा रहे टेस्ट मुकाबले में बारिश से खेल रोके जाने के समय भारत ने 23.3 ओवर में बिना किसी नुकसान के 107 रन बना लिए हैं। क्रीज पर मुरली विजय (33) और शिखर धवन (74) खेल रहे हैं। धवन ने 47 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया।

कप्तान विराट कोहली ने अपनी एकादश में चेतेश्वर पुजारा, भुवनेश्वर कुमार और करन शर्मा को शामिल नहीं किया है। उनकी जगह रोहित शर्मा, इशांत शर्मा और हरभजन सिंह टीम में रखे गए हैं। हरभजन दो साल से भी ज्यादा समय के बाद टेस्ट मैच खेलने उतरे हैं।

कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया पहली बार टेस्‍ट मैच खेलने विदेशी धरती पर उतरी है। महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भारतीय टीम के लिए विकेटकीपिंग की जिम्मा इस मैच में विकेटकीपर रिदिमान साहा संभाल रहे हैं।

बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के लिए पूर्णकालिक कप्तान के रूप में पहला टेस्ट होगा।
विराट ने अपने इस दायित्व को लेकर मंगलवार की मैच की पूर्व संध्या पर कहा, “ये मेरे लिए बेहद खास है। मैंने कभी नहीं सोचा था कि 26 साल की उम्र में भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान बनूंगा। बचपन से मेरा सपना देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलना था। साल दर साल मानसिक रूप से परिपक्व हुआ हूं।”

उन्होंने कहा, बीसीसीआई और टीम के साथियों का आभारी हूं जो यह सोचते हैं कि इस दायित्व को संभालने के लिए मैं सही व्यक्ति हूं। मेरी एक सोच है जो मैंने साथी खिलाड़ियों के साथ साझा की है। पूर्णकालिक टेस्ट कप्तान के रूप में शुरुआत को लेकर मैं बेहद उत्साहित हूं। उम्मीद हैं कि हम सकारात्मक शुरुआत करने में सफल रहेंगे। अंतिम एकादश के बारे में भारतीय टेस्ट कप्तान ने संकेत दिया है कि टीम पांच गेंदबाजों और छह बल्लेबाजों के साथ उतरेगी।

उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि टीम को बीस विकेट लेने का मौका देना चाहिए। मैं इस बात का हिमायती हूं कि पांच गेंदबाज और छह बल्लेबाजों का कंबीनेशन हो। पांच सौ का स्कोर बनाने के लिए दो या तीन बल्लेबाजों का चलना पर्याप्त हो जाता है।

इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी रही। टीम के दोनों ओपनर्स मुरली विजय (नाबाद 33) और शिखर धवन (नाबाद 74) ने बढ़िया शुरुआत दी। हालांकि मुरली की बल्लेबाजी धवन के मुकाबले धीमी रही।

लेकिन धवन ने बांग्ला गेंदबाजों पर अपना कहर जारी रखा। धवन ने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी की और गेंदबाजों पर जमकर रन बनाए। धवन अभी तक 12 चौके लगा चुके है। वहीं मुरली के नाम अभी तक सिर्फ 4 चौके है। 

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .