खंडवा: मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में पंधाना से भाजपा विधायक राम दांगोरे और उनके साथियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा, बलवा, जान से मारने की धमकी देने सहित अन्य धारों में केस दर्ज किया गया। आरोप है की बुधवार दोपहर में सांख्यिकी विभाग के दफ्तर पहुंचे थे। दफ्तर में सांख्यिकी विभाग में नारेबाजी कर तोड़फोड़ की गई।

सांख्यिकी विभाग आफिस में जाकर धरना, फाइल फाड़ने के मामले देने में कोतवाली थाने में बुधवार रात को पंधाना विधायक राम दंगोरे सहित उनके साथियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा, बलवा, जान से मारने की धमकी देने सहित अन्य धारों में केस दर्ज किया गया। जिला सांख्यिकी योजना अधिकारी के आवेदन पर केस दर्ज किया गया है। उल्लेखनीय है कि भाजपा विधायक दंगोरे करीब दो दर्जन साथियों के साथ बुधवार दोपहर में सांख्यिकी विभाग के दफ्तर पहुंचे थे। दफ्तर में सांख्यिकी विभाग में नारेबाजी कर तोड़फोड़ की गई। जिला सांख्यिकी अधिकारी ने आरोप लगाया है कि विधायक व उनके साथियों ने अपशब्दों कहे, जान से मारने की धमकी व शासकीय दस्तावेज को फाड़ा है।

जिला सांख्यिकी अधिकारी ने मामले की लिखित शिकायत करने बुधवार रात को कोतवाली थाने पहुंचे। मामले की जांच के बाद रात 11 बजे विधायक राम दांगोरे, संजय कुशवाह, जितेन्द्र पटेल, धीरज तिरोले, अश्विनी साहू, रामनिवास पटेल सहित अन्य लोगों के खिलाफ धारा 186, 294, 506, 427, 143, 147 के तहत केस दर्ज किया गया।

पंधाना विधायक राम दांगोरे ने पिछले कुछ दिनों से अवैध उत्खनन को जिला प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल रहा है। विधानसभा क्षेत्र में हुए अवैध उत्खनन व पेड़ों की कटाई मामले में जिला प्रशासन की मिलीभगत का आरोप लगा रहे है।

विधायक पर मामले दर्ज होने की खबर मिलते है भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष हरीश कोट वाले सहित कई भाजपा नेता कोतवाली थाने पहुंचे।
सीएसपी ललित गठरे ने बताया की जिला सांख्यिकी अधिकारी लिखित आवेदन पर पंधाना विधायक राम दांगोरे सहित 6 नामजद व अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मौके की वीडियो ग्राफी में फुटेज के आधार पर पहचान कर केस में आरोपियों को शामिल किया जाएगा।

इस मामले में विधायक राम दांगोरे का कहना है की शासकीय काम में हम पर झूठा आरोप लगाया है। मैंने और मेरे साथियों ने कोई अभद्रता नहीं की है। हम लोग कार्यालय परिसर में खड़े थे। कुर्सियां नहीं थी, जिससे हम जमीन पर बैठे। अधिकारी ने बुलाना पर हम अंदर गए। जिसकी हमारे पास वीडियो रिकार्डिंग है। मैंने रिश्वत मांगने वाले आरोपियों पर केस दर्ज करने की शिकायत की है।