पंजाब पुलिस के हेड कांस्टेबल ने AK-47 से बरसाईं गोलियां 

हेड कांस्टेबल कुलविंदर सिंह ने रविवार की सुबह करीब 6:00 अपने ससुराल में वारदात को अंजाम दिया। मृतकों की पहचान आरोपी की पत्नी राजविंदर कौर, सास सुखविंदर कौर, साले जसकरण सिंह और साले की पत्नी इंद्रजीत कौर के रुप में हुई है। साले की 10 वर्षीय बेटी जश्नप्रीत कौर घायल है। इस बात की पुष्टि मोगा के एसएसपी हरमणवीर सिंह ने की।मोगा: पंजाब के मोगा में एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। यहां पंजाब पुलिस के एक हेडकांस्टेबल ने सरकारी एके-47 से गोलियां बरसाकर पत्नी-सास, साले और साले की पत्नी की हत्या कर दी। इस वारदात के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैली है तो वहीं घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। इस निर्मम हत्याकांड में 10 साल की साले की बेटी भी घायल है। जिसका इलाज चल रहा है।

वारदात मोगा जिले के गांव सेद जलालपुर की ही है। हेड कांस्टेबल कुलविंदर सिंह ने रविवार की सुबह करीब 6:00 अपने ससुराल में वारदात को अंजाम दिया। मृतकों की पहचान आरोपी की पत्नी राजविंदर कौर, सास सुखविंदर कौर, साले जसकरण सिंह और साले की पत्नी इंद्रजीत कौर के रुप में हुई है। साले की 10 वर्षीय बेटी जश्नप्रीत कौर घायल है। इस बात की पुष्टि मोगा के एसएसपी हरमणवीर सिंह ने की। जसप्रीत कौर को मोगा के सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।

आरोपी कुलविंदर सिंह ने इस हत्याकांड को अंजाम देने बाद थाने पहुंच कर आत्मसमर्पण कर दिया। ससुराल परिवार के चार सदस्यों के हत्याकांड के पीछे सुअर फार्म को कारण बताया जा रहा है। आरोपी ने कुछ समय पहले अपनी ससुराल में सुअर फार्म खोला था। उक्त फार्म आरोपी कुलविंदर सिंह के ससुराल की जगह पर था।

अब ससुराल वाले उससे जमीन वापस मांग रहे थे। इसी बात पर कुलविंदर सिंह का ससुराल में विवाद चल रहा था। आधिकारिक जानकारी के अनुसार कुलविंदर सिंह शनिवार की रात अपनी पत्नी राजविंदर सिंह के साथ ससुराल आया था। इस दौरान ज्यादा शराब पीने के चलते कुलविंदर सिंह का अपने साले व सास के साथ जमीन को लेकर झगड़ा हो गया। माहौल गरमाने पर ससुराल परिवार ने मौके पर पुलिस को बुला लिया और पुलिस आरोपी को थाने ले गई।

सुबह करीब 5:00 बजे जब कुलविंदर सिंह की शराब उतर गई तो पुलिस ने उसे थाने से रिहा कर दिया। इसके बाद कुलविंदर सिंह सीधा अपने ससुराल गया और सरकारी एके-47 से अपनी पत्नी, सास, साले और साले की पत्नी की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि आरोपी ने 2014 में भी शराब पीकर ससुराल में फायरिंग की थी। इसको लेकर ससुराल पक्ष ने शिकायत दी थी। वहीं मानसा जिले में आरोपी के खिलाफ एक मामला दर्ज है। जबकि मोगा में नशा तस्करी का मामला दर्ज है।