Home > State > Delhi > साक्षी महाराज के 4 बीवी और 40 बच्चे बयान पर EC ने माँगा जवाब

साक्षी महाराज के 4 बीवी और 40 बच्चे बयान पर EC ने माँगा जवाब

File-Pic

File-Pic

नई दिल्ली- उन्नाव से भाजपा सांसद एवं आचार्य महामंडलेश्वर सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज ने विवादित बयान दे डाला। मेरठ में एक कार्यक्रम में पहुंचे भाजपा सांसद ने कहा कि चार बीवी और 40 बच्चे हमारे देश को मंजूर नहीं हैं। सभी राजनैतिक दल और हिंदुस्तान की जनता बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंतित है। उधर, साक्षी महाराज के बयान पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है। भाजपा का साक्षी महाराज के इस बयान से कोई लेना-देना नहीं है।

उधर, चुनाव आयोग ने डीएम से साक्षी महाराज के कार्यक्रम की वीडियो तलब की है। एसएसपी ने बताया कि साक्षी महाराज का चार पत्नी और 40 बच्चों संबधित दिया गया बयान आचार संहिता के उल्लघंन में आता है। इसके अलावा इस पॉलिटिकल कार्यक्रम की अनुमति भी नहीं ली गयी थी। केवल धार्मिक कार्यक्रम की अनुमति ली गयी थी। एसएसपी जे रविंदर गौड़ ने बताया कि सदर थाना पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

भारत सरकार को इस पर कड़ा कानून बनाना चाहिए। तलाक के नाम पर मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न हो रहा है। तीन तलाक के खिलाफ केंद्र सरकार ने सही कदम उठाया है। उप्र को लूटने वाले सपाई जब अपने परिवार और पार्टी को ही टूटने से नहीं बचा पा रहे हैं, तो उप्र को क्या संभालेंगे। विधान सभा चुनाव में कैराना और कश्मीर का मुद्दा भी रहेगा। साक्षी महाराज ने इशारों ही इशारों में खुद को यूपी के सीएम प्रत्याशी के लिए उपयुक्त चेहरा बता दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सांसद साक्षी महाराज
साक्षी महाराज शुक्रवार को वेस्ट एंड रोड स्थित सिद्धपीठ संकटमोचन हनुमान श्री बालाजी एवं शनि शक्तिपीठ शनिधाम मंदिर के सामने जैन विवाह मंडप में आयोजित संत समागम में बतौर मुख्य अतिथि आए थे।

उन्होंने कार्यक्रम के बाद मीडिया से वार्ता में कहा कि उप्र के विधान सभा चुनावों में हम श्रीराम मंदिर के नाम पर वोट नहीं मांगेंगे। मंदिर भाजपा का मुद्दा कभी नहीं रहा। यह साधु संतों का मामला है। विश्व हिंदू परिषद का मामला है। वैसे भी अयोध्या में मंदिर बन चुका है, भले ही छोटा हो। संतों का साथ अगर कांग्रेस देती, तो हम उनके साथ होते। भाजपा ने साथ दिया, इसलिए भाजपा के साथ हैं।

उन्होंने कहा कि उप्र में जब मुलायम की सरकार थी, तो दूसरे प्रदेश के गुंडे बदमाश भी यूपी में आ गए थे। जब कल्याण सिंह की सरकार आई, तो प्रदेश छोड़कर भाग गए। भाजपा के शासन में जनता भयमुक्त हो जाती है। उप्र में सीएम पद का चेहरा कौन होगा, यह संसदीय बोर्ड तय करेगा। भाजपा का सबसे बड़ा चेहरा नरेंद्र मोदी हैं, उनके चेहरे पर ही उप्र में भाजपा सरकार बनेगी।
सीएम पद के लिए उनका चेहरा भी कोई बुरा नहीं

हालांकि प्रेसवार्ता से पहले हुई बातचीत में साक्षी महाराज ने कहा कि सीएम पद के लिए उनका चेहरा भी कोई बुरा नहीं है।

चुनावों में कैराना से जनता के पलायन और कश्मीर को भी मुद्दा बनाया जाएगा। एक फरवरी को केंद्र का बजट आने वाला है। उसके विरोध में सभी विपक्षी इकट्ठा हो गए हैं। लेकिन चुनाव आयोग ने बोल दिया है कि बजट तो आएगा। इस अवसर पर महामंडलेश्वर महंत प्रेमदास महाराज अध्यक्ष ब्रजमंडल साधू समाज, महंत सुंदरदास महाराज, जगदगुरु ब्रह्मचारी कृष्णा स्वरूप महाराज, महंत लाडलीदास महाराज, उदयआश्रम जी महाराज, महंत फूलडोल बिहारी दास नाथ महाराज, महामंडलेश्वर महेंद्र दास महाराज आदि संत उपस्थित रहे। [एजेंसी]




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .