उज्जैन : मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के एक गांव में चार साल का बच्चा आयुष शुक्रवार को खेत में खुले पड़े 100 फुट गहरे एक बोरवेल में गिर गया। उसे सुरक्षित निकालने के लिए राहत व बचाव कार्य जारी है। अब उसे बचाने के लिए 23 घंटे से ऑपरेशन चल रहा है। ऑक्सीजन पहुंचाए जाने के बावजूद वह बेहोशी की हालत में है।

बड़नगर थाना क्षेत्र के मुंडला गांव में खेतिहर मजदूर महेश राजपूत अपनी पत्नी और बच्चे के साथ कालूराम के खेत पर काम कर रहा था, तभी उसका चार साल का बेटा खेलते-खेलते खुले बोरवेल में जा गिरा।

जानकारी अनुसार बोरवेल लगभग 100 फुट गहरा है, मगर आयुष 28 फुट की गहराई पर फंसा हुआ है। उसके शरीर में हरकत दिख रही है। राहत और बचाव कार्य जारी है। आयुष को सुरक्षित निकालने के लिए बोरवेल के पास ही पोकलैंड व जेसीबी मशीन के जरिए बड़ा गड्ढा खोदा जा रहा है। प्रशासनिक अधिकारी राहत और बचाव कार्य के विशेषज्ञ घटनास्थल पर पहुंच गए हैं, ताकि आयुष को सुरक्षित निकाला जा सके।

– उज्जैन में बड़नगर के पास मुंडला गांव में यह बच्चा आयुष फंसा है।
– बड़नगर तहसीलदार धर्मेन्द्र पाराशर के मुताबिक, हादसा शुक्रवार सुबह 10 बजे कालूसिंह के खेत पर हुआ।
– आयुष यहां मटर तोड़ने आया था। उसके माता-पिता खेत पर काम कर रहे थे।
– तभी आयुष खेलते-खेलते खेत में खुले पड़े बोरवेल में जा गिरा।
– इसके बाद शुक्रवार दोपहर 12 बजे से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ।
गड्ढे में पहुंचाई गई ऑक्सीजन

– बोरवेल से आयुष को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन अभी भी जारी है।
– बोरवेल के पास पोकलेन मशीन से फीट खुदाई जा रही है।
– लेकिन एक बड़ी चट्‌टान की वजह से खुदाई में काफी दिक्कत आ रही है।
– डॉक्टर्स की एक टीम बच्चे की हालत पर नजर रखे हुए है।
– बच्चे को लगातार ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है।
– इसके बावजूद वह बेहोशी की हालत में है।
– उज्जैन कलेक्टर कवीन्द्र कियावत भी मौके पर हैं।

Video Source ANI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here