Home > India News > स्वाइन फ्लू से अजमेर में हो रही मौत,प्रशासन मौन

स्वाइन फ्लू से अजमेर में हो रही मौत,प्रशासन मौन

swine-fluअजमेर – प्रदेश सहित जिले में स्वाइन फ्लू का प्रकोप बरकरार है। जेएलएन अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में लगातार स्वाईन फ्लू से ग्रसित मरीजों का भर्ती होने का सिलसिला जारी है। कई स्वाईन फ्लू रोगी मौत के आगोश में समा चुके हैं। रविवार रात्रि को जेएलएन अस्पताल में पीसांगन निवासी एक महिला स्वाईन फ्लू संदिग्ध भर्ती हुई, जिसकी जाच रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। महिला को भर्ती कर इलाज शुरु किया गया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा पीसांगन में स्वास्थ्य जांच व टेमी फ्लू टेबलेट वितरित करने की कवायद की जा रही है।

स्वाइन फ्लू प्रकोप को लेकर चिकित्सा विभाग भी सतर्क बना हुआ है। चिकित्सा विभाग की टीमें विभिन्न क्षेत्रों के सर्वे करने में जुटी है। जहां स्वाईन फ्लू संदिग्ध भर्ती हो रहे हैं। चिकित्सा विभाग ने स्वाईन फ्लू के प्रकोप के चलते चिकित्सकों की छुट्टियां भी रद्द कर रखी है। सीएमएचओ डॉ. राजेश खत्री ने बताया कि पीसांगन में महिला की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद चिकित्सा विभाग की टीम को सर्वे के लिए भेज दिया है। स्वाइन फ्लू से जिले में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है।

जिले में तेजी से पैर पसार रहे स्वाइन फ्लू  की रोकथाम व मरीजोंम की इलाज में ठोस कदम उठाने की मांग को लेकर कांग्रेसी सीएमएचओ कार्यालय पहुंचे। महिला कांग्रेस अध्यक्ष शबा खान ने बताया कि जिले में स्वाईन फ्लू का प्रकोप बरकरार है, ऐसे में चिकित्सा विभाग जिले में सर्वे कार्यवाही करे ताकि इस रोग से किसी मरीज की मौत न हो। सबा खान ने कहा कि जेएलएन अस्पताल में आए दिन स्वाईन फ्लू के मरीज भर्ती हो रहे हैं, जो चिन्ता का विषय है। उन्होंने चिकित्साधिकायिों के समक्ष अपनी बात रखी। इस अवसर पर वत्सला चतुर्वेदी, अरुणा कच्छावा, रजनी कहार, अभिलाषा विश्नोई, कमल गंगवाल, लोकेश शर्मा, वैभव जैन सहित अनेक कांग्रेस मौजूद रहे।

इसी क्रम में शिव सेना की अजमेर इकाई ने भी जिला कलक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर स्वाईन फ्लू के बढ़ते प्रकोप के मध्यनजर प्रशासनिक स्तर से गांवों में नर्सिंग स्टॉफ की कमी को तत्काल पूरा करने, टेमी फ्लू दवाई का समुचित मात्रा में गांव-गांव, ढाणी-ढाणी व प्रत्येक घर में वितरण करने तथा इस रोग से बचाव व लोगों को इससे अवगत कराने के लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में होडिंग लगाने तथा शहर व गांवों में नीजि चिकित्सकों व मेडीकल स्टोर द्वारा सर्दी एवं जुकाम की दवा बेचने पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग की।

रिपोर्ट :- सुमित कलसी

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .