Home > India > बहु नहीं, बेटी जैसा व्यवहार करे लड़कियां : चिटनीस

बहु नहीं, बेटी जैसा व्यवहार करे लड़कियां : चिटनीस

chitnisबुरहानपुर –विवाह समारोह में कन्यादान एक महत्वपूर्ण रस्म होती हैं। सामुहिक विवाह सम्मेलन उपरांत यह युगल नया संसार बसाएंगे तो बेटी को ससुराल में अपने से बड़ों का आदर करते हुए उनसे माता-पिता समान व्यवहार बनाकर नवजीवन की शुरूआत करना होगी। वर पक्ष द्वारा भी आज नवविवाहिता कन्याओं को बहू और बेटी का अंतर मिटाकर इन्हें बेटी जैसा व्यवहार बनाकर आशीर्वाद प्रदान करने से आगामी जीवन सुखमय और खुशहाल होकर समाज को नए आयाम देगा।
 
यह बात प्रदेश की पूर्व शिक्षा मंत्री एवं बुरहानपुर की  विधायक  अर्चना चिटनीस (दीदी) ने कृषि उपज मंडी में आयोजित माली समाज के सामुहिक विवाह समारोह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा कन्यादान योजना लागू किए जाने से प्रदेश में नया युग आ गया।
 
भाजपा सरकार द्वारा अब 25 हजार रूपए अनुदान राशि सामुहिक विवाह कार्यक्रम में वर-वधु पक्ष के लिए आधार स्तंभ साबित हो जाती है। बुरहानपुर क्षेत्र में माली समाज द्वारा 9वां सामुहिक विवाह समारोह आयोजित कर शिवराज सिंह  के कार्यक्रम और नीतियों को लगातार समर्थन दिया जा रहा है। जिसके लिए हम समाज और सामाजिक बंधुओं के ह्दय से आभारी है। श्रीमती चिटनीस ने नवविवाहित दुल्हा-दुल्हन को शुभाशिष देते हुए बधाई भी दी। 
 
श्रीमती  चिटनीस ने कहा कि ससुराल में बहू को बेटी मानकर ही उससे व्यवहार रखे। नव युगल भी परस्पर जिम्मेदारी और समझदारी से रहते हुए जीवन में सुख-समृद्धी को प्राप्त करें तथा खुश रहे और खुश रखे। विवाह का यह संस्कार उनके जीवन को आलोकित करें। नवयुगल परिवार, समाज व राष्ट्र के लिए सफल, स्वस्थ एवं सार्थक जीवन व्यतीत करें, ईश्वर से यही प्रार्थना है।
रिपोर्ट- मिर्जा राहत बेग 
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com