Home > Gadgets > व्हाट्सएप को कड़ी टक्कर देने आया गूगल मैसेजिंग एप

व्हाट्सएप को कड़ी टक्कर देने आया गूगल मैसेजिंग एप

Google  mobile messaging app

मोबाइल फोन यूजर्स के लिए यह खुशखबरी है कि गूगल जल्द ही एक ऎसा एप ला रहा है जिससे फ्री में मैसेज किए जा सकेंगे। गूगल का यह फ्री मोबाइल मैसेजिंग एप हिट हो चुकी व्हाट्सएप को कड़ी टक्कर देने वाला है। इस एप को कई सारी भारतीय भाषाओं से भी जोड़कर इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, गूगल की तरफ से इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन इसे अगले साल तक लॉन्च किया जा सकता है।

शुरू हुई तैयारी- गूगल ने पिछले महीने ही अपने प्रोडक्ट मैनेजर निखिल सिंघल को भारत में मैसेजिंग एप इकोसिस्‍टम पर रिसर्च करने के लिए भेजा था। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि गूगल मैसेंजर शुरूआती दौर में है। इसे अगले साल उतारा जा सकता है। आपको बता दें कि निखिल सिंघल गूगल हैंगआउट्स, फोटोज और गूगल प्लस कोर एंड प्लेटफॉर्म के प्रोडक्ट मैनेजमेंट डायरेक्टर हैं। सिंगल अभी लोकल इकोसिस्‍टम को समझने के लिए एशिया-प्रशांत देशों के दौरे पर हैं।

फ्री होगा-गूगल का यह नया आने वाला मैसेजिंग एप बिल्कुल फ्री होगा। इससें वाट्सऎप प्रत्येक यूजर से करीब 53 रूपए प्रति वर्ष का प्रीमियम चार्ज वसूल करता है। वाट्सऎप यूजर्स से यह चार्ज अपनी सर्विस शुरू करने के 1 साल बाद वसूलना शुरू करता है। वहीं गूगल के फ्री मैसेंजर एप के चलत इसें तगड़ी टक्कर मिलने वाली है।

गूगल लॉग-इन की जरूरत नहीं -जी हां, रिपोर्ट में कहा गया है कि अन्य गूगल प्रोडक्ट्स की तरह गूगल के इस नए मैसेंजर एप को इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को अपना गूगल लॉग-इन आईडी डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

वॉयस टू टेक्सट मैसेजिंग फीचर -गूगल अपने इस नए मैसेजिंग एप को और ज्यादा उपयोगी और आकर्षक बनाने के लिए वॉइस टू टेक्स्ट मैसेजिंग फीचर भी जोड़ सकती है। इस फीचर के तहत बोल मैसेज टाइप किया जा सकता है।

कई भाषाओं में करेगा काम-गूगल मैसेजिंग एप व्हाट्सएप से भी बड़े दायरे वाला होगा। कंपनी इसे हर भाषायी के लिए उपयोगी बनाना चाहती है जिसके तहत इसें कई सारी भारतीय भाषाओं को जोड़ा जा सकेगा।

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com