आगरा के रहने वाले सुरेश मिश्रा के बेटे धीरज की शादी 22 जनवरी को बड़े ही धूमधाम से फिरोजाबाद की रहने वाली तनु से हुई थी।

23 जनवरी को विदाई के बाद वो अपने ससुराल आ गई, लेकिन शादी की पहली रात ही दुल्हन को दूल्हे के बारे में ऐसी सच्चाई पता चली कि उसने हमेशा-हमेशा के लिए ससुराल छोड़ दिया।

यह हैरान कर देने वाला मामला आगरा के बाह तहसील के अशोक नगर का है। बताया जा रहा है कि शादी के बाद अपने घर आने के बाद से ही धीरज और उसके माता-पिता एक कमरे में कैद हो गए थे।

दो दिन के बाद जब पड़ोसियों ने घर से चीख-पुकार की आवाजें सुनी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

पड़ोसियों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़ा, लेकिन अंदर का नजारा देखकर वहां मौजूद सारे लोग हैरान रह गए।

रिश्तेदारों ने बताया कि धीरज और उसके माता-पिता की इन्हीं हरकतों को देखकर दुल्हन यहां से चली गई होगी।

दरअसल, धीरज मानसिक रूप से विक्षिप्त था और उसके माता-पिता की भी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी।

धीरज के विक्षिप्त होने की बात जब नई नवेली दुल्हन तनु को पता चली तो उसने अगले ही दिन मायके वालों को इसकी सूचना दी और हमेशा-हमेशा के लिए अपने घर चली गई।

2 दिन तक कमरे में बंद रहने के बाद धीरज और उसके माता-पिता की हालत बेहद खराब हो गई थी, जिसके बाद पुलिस ने सभी को पहले इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया और बाद में उन्हें आगरा के मेंटल हॉस्पिटल भेज दिया गया।

2 दिन तक कमरे में बंद रहने के बाद धीरज और उसके माता-पिता की हालत बेहद खराब हो गई थी, जिसके बाद पुलिस ने सभी को पहले इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया और बाद में उन्हें आगरा के मेंटल हॉस्पिटल भेज दिया गया।