कमलेश तिवारी की हत्या की योजना 2015 में ही बनाई गई थी, फिर क्या हुआ था

0
1


गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की सनसनीखेज हत्या के मामले को 24 घंटे के भीतर सुलझाते हुए तीन प्रमुख साजिशकर्ताओं को शनिवार को सूरत से गिरफ्तार कर लिया। जबकि, अन्य दो हत्यारों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

साल 2015 में मुस्लिम समुदाय के पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादास्पद टिप्पणी देने के बाद सुर्खियों में आये 45 वर्षीय कमलेश तिवारी की शुक्रवार को लखनऊ के खुशीर्दबाग स्थित उनके कायार्लय में बेरहमी से दो अज्ञात लोगों ने गला रेत कर और गोली मार कर हत्या कर दी थी।

गुजरात एटीएस के एस.पी. हिमांशु शुक्ला और डीएसपी के के पटेल ने शनिवार को समाचार एजेंसी यूनीवाता को बताया कि इस मामले के तीन प्रमुख साजिशकतार्ओं राशिद पठान (30), मौलवी मोहसिन शेख (28) और फैजान मेंबर (24), जो तीनों सूरत के लिंबायत इलाके की एक ही सोसायटी के निवासी हैं, को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके दो अन्य साथियों जिन्होंने हत्या को अंजाम दिया है, उनकी भी पहचान हो गयी है और उनकी जल्द ही गिरफ्तारी हो सकती है।

पटेल ने बताया कि मौका-ए-वारदात से मिले मिठाई के एक डिब्बा मिला जिसे हत्यारे सूरत के उधना की एक दुकान से खरीद कर ले गये थे और मृतक तिवारी के फोन से मिले सुराग के आधार पर इस मामले को सुलझाया गया है। पकड़े गये साजिशकतार्ओं को जल्द ही आगे की कार्रवाई के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया जायेगा।

आरोपियों ने साल 2015 में ही हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या की योजना बनायी थी पर तब ऐसा नहीं हो सका। राशिद बाद में दुबई चला गया और दो साल रह कर लौटा। इन लोगों ने हाल में फिर से यह योजना बनायी और दोनों हत्यारे गत 16 अक्टूबर को सूरत से लखनऊ रवाना हुए थे। PHOTO – ANI