Home > India > एनएचडीसी मुआवजा फर्जीवाड़े में एफआईआर के आदेश

एनएचडीसी मुआवजा फर्जीवाड़े में एफआईआर के आदेश

हरदा [ TNN ] मध्यप्रदेश के हरदा जिले के डूब प्रभावित ग्राम ऊवा के एक प्रभावित ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर अपने मकान का मुआवजा लेने का प्रयास किया जब इस मामले की नर्मदा हाइड्रो इलेक्ट्रिक डेवलपमेंट कोर्पोरेशन लिमिटेड ( NHDC) एनएचडीसी ने जाँच की तो पता चला की प्रभावित ने मुआवजे के लिए जो दस्तावेज प्रस्तुत किये जो फर्जी है इस मामले में विभाग ने हरदा कलेक्टर व एसपी को एफआईआर करने को कहा है इधर इस मामले में हरदा कलेक्टर ने एफआईआर करने के आदेश दे दिए है ।

NHDC एनएचडीसी  की महाप्रबंधक रेनू पंत ने एक पत्र हरदा कलेक्टर व एसपी को को भेजा है जिसमे बताया गया है की हरदा जिले के हंडिया थाने के ग्राम ऊवा के ओमप्रकाश पिता हीरालाल उर्फ़ जगन्नाथ ने डूब प्रभावित झेत्र के मकान का मुआवजा नहीं मिलने की शिकायत एमपी समाधान में की थी जिसकी जाँच भूअर्जन एवं पुनर्वास अधिकारी खंडवा करायी गयी जाँच में यह पाया गया की शिकायतकर्ता वास्तविक ओमप्रकाश नहीं है उनके द्वारा मुआवजा पाने के लिए परिचय के दस्तावेजो में हेराफेरी ,कूटरचना की, जो की आपराधिक कृत्य है एवं धोखा धडी में आता है ।

शिकायतकर्ता ओमप्रकाश की पुत्री का मतदाता पहचान पत्र भी ग्राम खरधना की किसी महिला के नाम है ड्राइविंग लाइसेंस भी किसी ओम जाट पिता जगन्नाथ के नाम है जिसमे पिता के नाम से छेड़ छाड़ की जाकर हीरालाल को जगन्नाथ किया गया ,इसके अलावा निवासी प्रमाण पत्र ,ग्राम पंचायत के पहचान पत्र के लिए भी जानकारी गलत दी गयी।

हरदा कलेक्टर रजनीश श्रीवास्तव ने भाषा को बताया की इस मामले में एसपी को एफआईआर के आदेश दे दिए गए है व डूब प्रभीवितो को मिले मुआवजे की समिझा करायी जावेगी और जिसने भी फर्जी तरीके से मुआवजा लिया होगा उनके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जावेगी

रिपोर्ट:-अब्दुल समद

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com