बारिश से आफत: बाढ़ जैसे हालात, 8 बहे, एक शव बरामद - Tez News
Home > India News > बारिश से आफत: बाढ़ जैसे हालात, 8 बहे, एक शव बरामद

बारिश से आफत: बाढ़ जैसे हालात, 8 बहे, एक शव बरामद

mandla Weather News In Hindiमंडला- मंडला जिले पिछले करीब 24 घंटों से हो रही लगातार बारिश के कारण सभी नदी – नाले उफान पर है। झमाझम बारिश से नगर सहित अनेक ग्रामीण क्षेत्रों में बाढ़ के हालात निर्मित हो गए है। मंडला जिला मुख्यालय में पानी निकासी का सही इन्तिज़ाम न होने से कई बस्तिया पानी में डूब गई। सड़कों और घरों में पानी भर गया।

इस बारिश में यह साफ़ होगा कि ऐसे हालात होने से रोकने और हालात बनने पर उससे निपटने नगर पालिका के पास कोई एक्शन प्लान नहीं है। इस बारिश के चलते कुछ ग्रामीण क्षेत्रो का संपर्क भी जिला मुख्यालय से टूट गया है। दिन में मंडला का संपर्क रायपुर, डिंडोरी और सिवनी से टूट गया था शाम होते होते कई मार्गों में हालात सामान्य होने लगे।

कई बस्तियों में भरा पानी –
मंडला में 24 घंटे की बारिश ने ही शहर को पानी – पानी कर दिया। बारिश ने नगर पालिका की बारिश पूर्व तैयारियों की भी पोल खोल कर रख दी। नाले – नालियों की समुचित सफाई न होने से कुछ देर में ही विभिन्न इलाको में जल भराव की स्थिति निर्मित हो गई। रानी अवंती बाई वार्ड स्थित कलेक्टोरेट हाउसिंग सोसाइटी की सड़कों ने भी तालाब का रूप ले लिया। यहाँ कई मकानों में पानी भर गया। हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में लोगों के घरों में तीन से चार फुट पानी भर गया। कुछ मकानों की पहली मजिल ही पानी में डूब गई। लगभग ऐसा ही नज़ारा लालीपुर क्षत्र में भी देखने को मिला। पानी भरने का यह सिलसिला देर रात करीब दो बजे से शुरू हो गया था जिसने लोगों को रतजगा करने के लिए मजबूर कर दिया। पोलिटेकनिक कॉलेज के सामने वाली बस्ती में घरों के छप्परों से पानी बह रहा था। ईडन गार्डन से आया पानी के कई घरों को पानी पानी करते हुए लालीपुर – बिंझिया मार्ग को घंटो के लिए अवरुद्ध कर दिया।

मौके पर पहुंचा प्रशासन –
जिन लोगों के दरवाजे के बहार पानी बह रहा था वो बहार सड़क में बरसते पानी पर खड़े होकर दो पहिया और चार पहिया वाहन चालकों को रोकते दिखे ताकि वाहन की लहर से पानी घर में प्रवेश न कर जाए लेकिन सुबह होते होते सेकड़ो मकानों में पानी भर गया था। भीषण हालत को देखते हुए एसडीएम प्रवीण फुलपगारे, तहसीलदार कमलेश राम नीरज, मुख्य नगर पालिका अधिकारी आर पी सोनी, कोतवाली थाना प्रभारी सतीश सिंह अपनी पूरी टीम के साथ हालत का जायजा लेने निकल पड़े और अपनी टीम को रहत कार्य में लगा दिया। राजेंद्र तिवारी, शशि पटेल सहित पार्षदों की टीम भी प्रभावित इलाकों पर रखते नज़र आये। कुछ देर बाद कलेक्टर श्रीमती प्रीती मैथिल भी बारिश के चलते हुई इस तबाही को देखने पहुंची और आवश्यक कार्यवाही के दिशानिर्देश दिए।

प्रभावितों से मिली जिला पंचायत अध्यक्ष –
जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति सम्पतिया उइके, उपाध्यक्ष श्री शैलेष मिश्रा, जनपद अध्यक्ष श्रीमति पांचो बाई एवं भाजपा अध्यक्ष श्री रतन ठाकुर द्वारा जिले के वर्षा प्रभावित ग्रामों का भ्रमण कर प्रभावितों से सम्पर्क कर उन्हें ढाढस बंधाया गया। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि इस प्राकृतिक आपदा के समय शासन एवं प्रशासन प्रभावितों के साथ है। आपदा से प्रभावित व्यक्तियों को नियमानुसार हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जायेगी। प्रभावितों से चर्चा करते हुये श्रीमति सम्पतिया उइके ने कहा कि इस आपदा में जिनके घर गिर गये हैं अथवा जिनके सामानों का नुकसान हुआ है, सर्वे कराकर सभी को पात्रतानुसार मुआवजा राशि प्रदाय की जायेगी। उन्होंने पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव को निर्देशित किया कि सर्वे का कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाये एवं सर्वे में किसी प्रकार का कोई पक्षपात नहीं किया जाये।

दीनदयाल काॅलोनी में शिफ्ट होंगे प्रभावित –
चूना भट्टा क्षेत्र में प्रभावितों से चर्चा करते हुये अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमति सम्पतिया उइके ने कहा कि नाले के किनारे मकान होने के कारण जिनका नुकसान हुआ है उनको शिफ्ट करने के लिये दीनदयाल काॅलोनी विकसित की जायेगी। जिनके पास कोई स्वयं की कोई भूमि नहीं है उनको पात्रतानुसार भूमि आवंटित की जायेगी। इसी प्रकार बीपीएल एवं अति गरीब परिवारों को शासन की विभिन्न आवास योजनाओं से लाभांवित किया जायेगा।

लिमरुआ मैं 100 से अधिक घरों में भरा पानी –
इस बारिश के चलते कुछ ग्रामीण क्षेत्रो का संपर्क भी जिला मुख्यालय से टूट गया है। बाढ़ के चलते बम्हनी थाना क्षेत्र के ग्राम लिमरुआ मैं करीब 100 घर पानी मैं डूब गए हैं जबकि 8 लोगों के बाढ़ मैं बहने की खबर है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओंकार कलेश ने बताया कि 8 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित बचा लिया गया है जबकि लापता बताये जा रहे कुछ लोगों की तलाश की जा रही है। लिमरुआ ग्राम मैं बम्हनी पुलिस तो पहुँच गई है परंतु जिला मुख्यालय से पुलिस और बचाव दल के पहुचने मैं भरी परेशानी आ रही है। जिले मैं कल से हो रही लगातार बारिस ने आमजन जीवन अस्तव्यत कर दिया है जिसके चलते अनेक ग्रामों मैं जलभराव की स्थिति बनी हुई है। यदि बारिश थमती है तो स्थिति सामान्य होने में अगले कुछ घंटे लग सकते है।

बाढ़ में बही महिला का मिला शव –
बाढ़ के चलते मंडला के हालात काफी ख़राब बने हुए है। सबसे बुरे हाल जिला मुख्यालय, बम्हनी, लिमरुआ और नैनपुर के है। लिमरुआ में बाढ़ में बहे लोगों के रेस्क्यू का दावा पुलिस कर रही है। यहाँ करीब एक दर्जन ग्रामीण तेज बहाव में बह गए थे। देर शाम बाढ़ में बही एक महिला का शव बरामद हुआ। विमला बाई नमक यह महिला अपने पति के साथ पानी से निकलने की कोशिश में बह गई थी। क्षेत्रीय विधायक संजीव उइके का कहना है कि इस बारिश ने ग्रामीण लोगों का जीवन बुरी तरह बर्बाद कर दिया है। प्रशासन अपना काम कर रहा है लेकिन राहत कार्य में तेजी लाने की जरुरत है। क्षेत्रीय लोग बताते है कि उन्होंने अपने जीवन में ऐसी बारिश इससे पहले कभी नहीं देखी। पुलिस हर रहत और बचाव कार्य के लिए तत्पर रहने की बात कर रही है।

शालाओं में 8 एवं 9 जुलाई का अवकाश घोषित –
मण्डला जिले में बारह घंटे से लगातार बारिश होने के कारण जिले की शासकीय अशासकीय एवं केन्द्रीय विद्यालयों में 8 एवं 9 जुलाई का अवकाश घोषित किया गया है। इस संबंध में कलेक्टर श्रीमति प्रीति मैथिल नायक द्वारा आदेश जारी कर दिये गये है। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में भारी वर्षा की चेतावनी के मद्देनजर आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जिला कलेक्टर को अपने जिले में अवकाश घोषित करने के संबंध में निर्णय लेने हेतु अधिकृत किया गया है।
जिले में अब तक 436 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज –
मण्डला जिले में इस वर्षा ऋतु में एक जून से 8 जुलाई तक 436.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई हैए जबकि गत वर्ष इसी अवधि तक 195 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई थी। इस प्रकार जिले में गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष 241.8 मिलीमीटर अधिक औसत वर्षा दर्ज की गई है जो जिले की औसत वार्षिक वर्षा का 31.4 प्रतिशत है।

बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित –
बाढ़ नियंत्रण कार्य हेतु नगर पालिका परिषद मण्डला में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका दूरभाष क्रमांक 07642.251078 है। यह कक्ष 24 घंटे कार्यरत रहेगा। बाढ़ नियंत्रण हेतु नगर पालिका परिषद मण्डला में बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका दूरभाष क्रमांक 07642.251078 है। कलेक्टर द्वारा आर पी सोनी मुख्य नगरपालिका अधिकारी मण्डला को बाढ़ नियंत्रण कक्ष के लिये प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है जिनका मोबाईल नम्बर 9893414794 है। इसी प्रकार कमलेश राम नीरज तहसीलदार मण्डला को सहायक प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। कमलेश नीरज का मोबाईल नम्बर 9893074127 और 8817577716 है। यह कक्ष 24 घंटे कार्यरत रहेगा। आपातकालीन फायर बिग्रेड के लिए नम्बर 101 है।

आपदा प्रबंधन संबंधी बैठक 9 को –
ट्रनिंग ऑफ स्टेट डिजास्टर कमांड एवं रिस्पांस मॉनिटरिंग सिस्टम के संबंध में 9 जुलाई को प्रातः 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक वीडियो कान्फेसिंग आयोजित की गई है। जिला कार्यालय प्रमुख को निर्देशित किया गया है कि निर्धारित समय पर कलेक्ट्रेट कार्यालय के वीडियो कान्फेंसिंग कक्ष में उपस्थित होना सुनिश्चित करें।

रिपोर्ट- @सैयद जावेद अली

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com