नई दिल्ली : पीएम मोदी के ‘रेनकोट’, ‘जन्मपत्री’ और ‘गूगल’ वाले बयानों को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने निशाना साधा है। दरअसल, राहुल और अखिलेश यादव आज लखनऊ में साझा प्रेस वार्ता कर रहे थे। इसमें न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी किया.राहुल गांधी ने यहां पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम को सिर्फ गूगल पर सर्च करना और दूसरों के बाथरूम में झांकना पसंद है। उन्हें जो भी जन्मपत्री निकालनी है निकाल लें। राहुल ने आगे कहा कि हम यूपी में युवाओं की सरकार चाहते हैं। यूपी के विकास के लिए 10 एजेंडा बनाया है। इन 10 एजेंडों से भी आगे जाकर काम करेंगे।हम किसानों की मदद करेंगे। हमारी सरकार भाईचारे की सरकार है। यूपी में सबकी सरकार होनी चाहिए। केंद्र का 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार का वादा झूठा है। यूपी की 99 प्रतिशत सीट पर कोई समस्या नहीं।

वहीं अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी के लोग अभी भी अच्छे दिनों का इंतजार कर रहे हैं। कुछ लोग सिर्फ मन की बात करते हैं, काम की बात नहीं।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने राहुल का नाम लिए बगैर कहा कि वह ऐसे राजनेता हैं जिन पर सबसे ज्यादा चुटकुले बनते हैं और जिनसे उनकी पार्टी भी दूरी बनाकर चलना पसंद करती है। अगर आप गूगल करेंगे तो इस कांग्रेस नेता से ज्यादा किसी भी और राजनेता पर चुटकुले नहीं बने होंगे। ‘ इसके आगे पीएम ने कहा ‘उनके बोलचाल का तरीका और वह ऐसी ऐसी हरकतें करते हैं कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी उनसे 10 फुट दूर रहना पसंद करते हैं। ‘

इसके साथ ही मोदी ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस फैसले पर भी सवाल उठाया जिसके तहत उन्होंने कांग्रेस के साथ गठबंधन करने का फैसला लिया। पीएम मोदी ने पूछा ‘जिस नेता से कांग्रेस के बड़े बड़े नेता किनारा करते हैं, अखिलेश जी आपने उसे गले लगा लिया। मुझे आपके विवेक पर संशय हो रहा है। ‘

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसते हुए कहा था कि बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना मनमोहन सिंह से सीखें। पीएम मोदी ने कहा कि 30-35 सालों से आर्थिक फैसलों में मनमोहन सिंह की भूमिका रही। इतने घोटाले सामने आए लेकिन मनमोहन सिंह पर दाग नहीं लगा। मनमोहन पर पीएम मोदी की टिप्पणी के बाद सदन में जोरदार हंगामा हुआ और कांग्रेस के सांसदों ने पीएम से माफी की मांग की है।