Home > India > फैसला :जेल में बंद कैदी भी शारीरिक संबंध बना सकेंगे

फैसला :जेल में बंद कैदी भी शारीरिक संबंध बना सकेंगे

court-judgment-justice-चंडीगढ़ – पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने एक ऎतिहासिक फैसला सुनाते हुए जेल में बंद कैदी को अपने पति या पत्नी के साथ संबंध बनाने और बच्चे पैदा करने की अनुमति दे दी है। कोर्ट ने कहा किसी भी कैदी का प्रजनन करने का अधिकार, जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता के अधिकार के दायरे में आता है।

जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि कैद में रहते हुए बच्चे पैदा करने के अधिकार का नियम राज्य की तय नीति से होगा। ऎसे में हो सकता है कि किसी कैटेगरी के कैदियों को ऎसे अधिकार नहीं दिए जा सकें। कोर्ट ने यह फैसला जसवीर सिंह और सोनिया की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया।

जसवीर और सोनिया पटियाला के सेंट्रल जेल के कैदी हैं। इन दोनों पर 16 साल के बच्चे के अपहरण और हत्या का आरोप है। इन दोनों को इस आरोप में मौत की सजा भी सुनाई जा चुकी है। कैदी दंपत्ति ने अपील की थी कि पति अपने माता-पिता का इकलौता बेटा है, ऎसे में उसे बच्चे पैदा करने की अनुमति दी जाए। हालांकि कोर्ट ने गंभीर अपराध के चलते इन दोनों को संबंध बनाने की अनुमति नहीं दी है।

अपने फैसले में जस्टिस सूर्यकांत ने पंजाब को निर्देश दिया है कि हाईकोर्ट के एक पूर्व जज की अध्यक्षता में जेल रिफॉम्र्स कमेटी बनाई जाए। इसमें एक समाज विज्ञानी, जेल सुधार और जेल प्रबंधन पर एक विशेषज्ञ सहित दूसरे लोगों को मेंबर बनाने का निर्देश दिया गया है। गौरतलब है कि कई देशों में कैदियों को प्रजनन के लिए जेल से बाहर जाने या कृत्रिम गर्भाधान का अधिकार मिला हुआ है। भारत में इसकी इजाजत नहीं है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com