Home > Crime > नया खुलासा: होटल से गिरकर नहीं हुई शिल्पी की मौत !

नया खुलासा: होटल से गिरकर नहीं हुई शिल्पी की मौत !

Murder Mysteryइंदौर- तुकोगंज क्षेत्र में एक होटल से गिरकर हुई शिल्पी (शिल्पू) की मौत के मामले में शनिवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट से नया खुलासा हुआ है। पुलिस की आत्महत्या की कहानी से बिलकुल उलट आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हुई है। युवती से पहले जमकर मारपीट की गई और बाद में उसकी पीठ पर बैठकर मुंह दबाया गया। जब उसकी मौत हो गई तो आत्महत्या दिखाने के लिए उसे नीचे फेंक दिया गया।

रविवार रात आरएनटी मार्ग स्थित लेमन ट्री होटल के पैसेज में शिल्पी भदौरिया की लाश मिली थी। वह अपने रूम मेट आशुतोष जोहरे के साथ होटल पहुंची थी। दोनों रूम नंबर 418 में ठहरे दोस्त शैलेंद्र सारस्वत से मिलने गए थे। शैलेंद्र के साथ उसका दोस्त नीरज दंडोतिया भी था। शिल्पी के साथ अंदर क्या हुआ, इसका अभी तक खुलासा नहीं हुआ। रूम में जाने के बाद वह बाहर नहीं निकली थी।

पुलिस इसे आत्महत्या मानकर जांच कर रही थी। जांच के बाद पुलिस ने घटना के दौरान मौजूद तीनों लड़कों को मौत का दोषी मानकर गिरफ्तार किया और प्रेस कॉन्फ्रेंस भी ली। पुलिस ने कहानी बताई कि शिल्पी कमरे का माहौल देख भड़क गई। अंदर सभी सिगरेट और शराब पी रहे थे। इस बात पर आशुतोष और उसकी बहस हुई। उसके बाद शिल्पी बालकनी में गई और कूदकर जान दे दी। परिजन ने पुलिस की कहानी पर शुरू से ही शक जाहिर किया था। शनिवार को जैसे ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिली तो वे भड़क गए। उन्होंने पुलिस पर जांच में लापरवाही बरतने जैसे आरोप भी लगाए।

जमकर पीटने के बाद मार डाला

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा भी हुआ कि होटल के कमरे में शिल्पी से जमकर मारपीट की गई थी। इससे उसके पेट के भीतर और अन्य अंगों पर गंभीर चोट आई थी। इसके बाद उसे फर्श पर पटका और पीठ पर बैठकर उसका मुंह दबाया गया। इस दौरान हुए संघर्ष में शिल्पी के शरीर पर नाखूनों के निशान भी लगे। जब दम घुटने से उसकी मौत हो गई तो आत्महत्या दिखाने के लिए शव को नीचे फेंक दिया गया।

इसलिए पुलिस को लगी आत्महत्या

घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना का री-प्ले करके भी देखा। पुलिस अफसरों और वैज्ञानिक अफसरों का मत था कि ऊंचाई से गिरने और फेंके जाने में काफी अंतर होता है। शिल्पी का शव 90 डिग्री के एंगल से नीचे पड़ा था। ऐसा तभी हो सकता है जब कोई गिरे। फेंके जाने के दौरान यह स्थिति नहीं बन सकती। री-प्ले में भी यही तथ्य सामने आए थे।

वरिष्ठ अफसर केस की करेंगे समीक्षा

इस मामले में तुकोगंज टीआई दिलीपसिंह चौधरी और पुलिस के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. सुधीर शर्मा का कहना है कि पीएम रिपोर्ट में हत्या की बात सामने आई है। शुरुआती जांच में अलग तथ्य सामने आए थे। अब इस मामले की नए सिरे से जांच के साथ ही मेडिकल सलाह भी ली जाएगी। वरिष्ठ अधिकारी इस मामले की समीक्षा कर रहे हैं।

ये है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में

– मौत सामान्य नहीं हत्या की गई है।

– पहले जमकर मारपीट की गई और फिर पीठपर बैठकर मुंह दबाया गया।

-मौत गला दबाने और सांस रुकने से हुई।

-शरीर पर संघर्ष के दौरान बनने वाले नाखूनों के निशान मिले।

-मौत के तुरंत बाद शव को ऊंचाई से फेंक दिया गया।

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .