teznews

हैदराबाद- बकरीद के पहले यहां के एक मुस्लिम ग्रुप ने गोरक्षा करने का वादा किया है। इस ग्रुप का नाम ‘अरब गोरक्षणा समिति’ (एजीएस) है। संगठन पुराने हैदराबाद शहर से ताल्लुक रखता है। एजीएस ने इस मामले में हदीस का हवाला दिया है। बता दें कि हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी हैं, जिन पर कई बार भड़काउ भाषण देने के आरोप लगते रहे हैं।

एजीएस पुराने हैदराबाद शहर के बरकस इलाके में एक्टिव है। बरकस लंबे वक्त से बीफ की बिक्री के लिए जाना जाता है। एजीएस के प्रेसिडेंट अब्दल्लाह बिन अली बहामिद हैं जो पेशे से वकील हैं। बहामिद का कहना है कि वह हिंदू और मुस्लिमों के बीच रिश्ते बेहतर करने के लिए यह कदम उठा रहे हैं।

उनका कहना है, “कोई भी देश तब तक विकास नहीं कर सकता जब तक उसके नागरिकों में आपसी भरोसा न हो। हिंदू अगर गाय की पूजा करते हैं तो मुस्लिमों को भी उनकी सेंटीमेंट्स की इज्जत करनी चाहिए। वैसे भी कानून के मुताबिक गोवध पर बैन है।

हाल ही में गुजरात सरकार के कुछ पोस्टर्स पर विवाद हो गया था। इनमें कुरान के हवाले से कहा गया था कि गोमांस खाने से बीमारियां होती हैं। एजीएस ने भी यही दावा किया है लेकिन ग्रुप ने कुरान का हवाला नहीं दिया है। एजीएस ने हदीस के हवाले से कहा है कि इसमें पैगंबर मोहम्मद ने भी बीफ को हेल्थ के लिए नुकसानदेह बताया है। बहामिद ने कहा, “जब हदीस में ही बीफ खाने को गलत बताया गया है, तो फिर किसी बहस की गुंजाइश ही नहीं रह जाती। हम चाहते हैं कि लोग इस मामले में हमारी हेल्प करें।

एजीएस ने कहा है कि 25 जातियों के करीब 200 लोग उनसे जुड़ चुके हैं। इनमें यूएई के एनआरआई भी हैं। एजीएस पर आरोप लग रहा है कि उसे बीजेपी और आरएसएस का समर्थन हासिल है। लेकिन एजीएस मेंबर्स इन आरोपों को गलत बताते हैं।एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here